blog

10 वर्षीय रेप पीड़िता की 17 अगस्त को होगी डिलिवरी

Spread the love

कुकर्मी मामा की हवस का शिकार बनी 10 साल की बच्ची की डिलिवरी गुरुवार को हो सकती है। यह फैसला गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज ऐंड हॉस्पिटल जीएमसीएच सेक्टर-32 तथा पीजीआई के डॉक्टरों के एक पैनल ने लिया है। देश भर को हिलाकर रख देने वाले इस मामले से जुड़ी पीड़िता इस समय जीएमसीएच 32 में ऐडमिट है और शुरुआत में उसकी डिलिवरी सोमवार को ही होनी थी, लेकिन बीपी असामान्य होने के चलते ऐसा नहीं हुआ।

कुल मिलाकर पूरी-पूरी कोशिश इस बात की है कि सुरक्षित डिलिवरी हो और इसी लिए गुरुवार तक के लिए इसे टाल दिया गया है। उल्लेखनीय है कि देश भर को हिलाकर रख देने वाला यह मामला चंडीगढ़ से जुड़ा हुआ है। रिश्ते में मामा ने पीड़ित का रेप कर दिया था, जिससे वह प्रेगनेंट हो गई थी। इस बात का खुलासा पीड़िता की हालत बिगड़ने पर हुआ था, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। पीड़िता के माता-पिता बेटी का अबॉर्शन करवाना चाहते थे।

ऐसी स्थिति को देखते हुए डॉक्टर कोई जोखिम नहीं लेना चाहते हैं और डिलिवरी गुरुवार तक के लिए टाल दी गई है। ग्यारह डॉक्टरों के पैनल ने 8 अगस्त से जीएमसीएच में भर्ती पीड़िता के स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग के दौरान पाया कि मरीज की हार्टबीट और रेस्पेरेट्री ऑर्गन ठीक हैं, लेकिन उसका ब्लड प्रेशर ऊपर-नीचे हो रहा है। इसी तरह डिलिवरी के दौरान पेल्वक बोन्स पर पड़ने वाले दबाव को सहने के हिसाब से बोन्स भी कमजोर हैं।

You might also like