UA-128663252-1

डाँ. रत्ना नशीने की बायोग्राफी ग्लोबल बुक आफॅ अर्थ में शामिल

‘‘द मोस्ट ईस्पायारिंग पीपुल ऑफ़ अर्थ‘‘ अफ्रिकन ग्लोबल बुक एंजेसी प्रुडेन्ट पेंन की किताब में विश्व के कई विशिष्टि प्रेरणादायी कर्मयोगीयों की जीवन गाथा प्रकाशित की जारही है। इस श्रृखला में भारत के प्रेरणादायी कर्मयोगीयों की जीवनी शामिल की जावेगी। इसी तारतम्य में इंदिरा गांधी कृषि विश्व विद्यालय रायपुर (छ.ग.) के अधीनस्थ कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र, नारायणपुर छत्तीसगढ़ की शिक्षा, प्रसार कार्य, लेखन व समाज सेवा के लिए कई पुरूस्कारों से सम्मानित प्रोफेसर डाॅ. रत्ना नशीने की जीवनी गोल्डन बुक ऑफ अर्थ में शामिल किया गया है।

डाँ. रत्ना नशीने कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र, में प्रोफेसर एवं अधिष्ठाता के पद पर कार्यरत हैं। डाॅ. रत्ना नशीने को महिला उत्थान के लिए नागरिक सम्मान किरनापुर सम्मान दिया गया। डाॅ. रत्ना नशीने को शिक्षा एवं आदिवासी क्षेत्रों मे कृषको की आय को बढ़ाने के लिय भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली के द्वारा, फखरूधीन अली अहमद आवार्ड प्रदान किया गया। ग्लोबल टीचर आवर्ड, बेस्ट होम साइंटिस्ट आवार्ड, बेस्ट वुमन आफ अग्रीकल्चर साइन्सेस, आउटस्टेडिंग अर्चीवमेन्ट आवार्ड, बेस्ट रिर्सोस परसन इन होमसाइंस,उत्कृष्ट प्रसार वैज्ञानिक, उत्कृष्ट वैज्ञानिक पुरूस्कार के साथ कुपोषण और एनिमिया से बचाव के लिए डाॅ. ए. पी. जे. अब्दूल कलाम राष्ट्रीय पुरूस्कार से सम्मानित किया गया। उन्हें तीन बार उत्कृष्ट राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारी सम्मान राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय शिवीरो में दिया गया है। हैहय क्षत्रिय कलचुरी समाज द्वारा ‘‘समाज रत्न‘‘ से भी सम्मानित हुई है। माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा मन की बात नारी सशक्तिकरण के लिए लांच किये गये कार्यक्रम भारत की लक्ष्मी के लिये ‘‘केचुवा खाद्य उद्यमिता से महिला उत्थान‘‘ की कहानी मार्च 2020 मे चयनित हुई थी।

हाल ही में स्वर्ण भारत परिवार के द्वारा ग्लोबल गांधी आवार्ड तथा सोसायटी आफ कृषि विज्ञान बेस्ट वुमन साइंटिस्ट-2020 से भी सम्मानित किया जा चुका है। अपने जीवन पर विभिन्न पदो पर रहते हुए उनके कार्य काल में संस्था प्रमुख रहते उत्कृष्ट विज्ञान केन्द्र पुरूस्कार से नवाजा गया है। स्वर्ण भारत परिवार, दिशा फांऊडेशन, उदय कौशल फांऊडेशन, का अफ्रीकन ग्लोबल बुक एंजेन्सी प्रुडेंट ने सहयोग किया है। छत्तीसगढ़ के पिछड़े क्षेत्र नारायणपुर से डाॅ. रत्ना नशीने के माहिला उत्थान, कुपोषण एनिमिया निवारण, लेखन कार्यों के लिए राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय पुरूस्कार प्राप्त डाॅ. रत्ना नशीने की जीवनी भी विशिष्ट प्रेरणादायी व्यक्तित्व सर्व श्री केन्द्रीय मंत्री, मुकेश खन्ना और स्व. लक्ष्मी सहगल के साथ गोल्डन बुक ऑफ अर्थ में शामिल कर लिया है।

Gyan Dairy

डाॅ. रत्ना नशीने का जीवन में सर्धषकर अपने जीवन में मुकाम हासिल किया है। तथा सामाजिक व महिला उत्थान में सदैव आगे रही है। उच्चतम शिक्षा डिग्रीया ले तथा वर्तमान में भी आन लाइन कोसेर्स भी कर रही है। छत्तीसगढ़ के नारायणपुर आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र में भी कृषि, कुपोषण निवारण, व्यवसायिक प्राशिक्षण दे महिलाओं को सशक्त कर रहीं है। युवाओं केा मानव मुल्यों एवं पर्यावरण, पृथ्वी बचाव के लिए जागृक कर रही है।

डाॅ. रत्ना नशीने ने स्र्वण भारत परिवार के संस्थापक अध्यक्ष पीयुष पंडित का अभार व्यक्त किया है। डाॅ. रत्ना नशीने अपने जीवन के सफलता का श्रेय माता पिता, भाई बहनों, मित्रों गण तथा अपने विश्व विद्यालय के कुलपति डाॅ. एस के पाटिल के साथ वरिष्ठ एवं कनिष्ट साथियों का अभार व्यक्त किया है।

Share