मुंबई ​में किसानों का हल्ला बोल: एनसीपी और शिवसेना का मिला साथ, शरद पवार करेंगे संबोधित

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का आंदोलन जारी है। किसान नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं, जबकि सरकार इस कानूनों से किसानों के फायदे गिना रही है। कई दौने की बातचीत के बाद भी कोई हल नहीं निकल पाया है। लिहाजा, किसान आंदोलन की धमक अब पूरे देश में तेजी से फैलती जा रही है।

इस बीच महाराष्ट्र के किसान इन कानूनों के विरोध में खुलकर आ चुके हैं और आज मुंबई के आजाद मैदान में बड़ी रैली होने वाली है। यहां सबसे खास बात है कि किसानों के इस रैली को शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी का साथ मिल गया है। एनसीपी नेता शरद पवार और शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे भी रैली में पहुंचेंगे और इसे संबोधित करेंगे।

ऑल इंडिया किसान सभा (एआईकेएस) के राष्ट्रीय प्रवक्ता अशोक धवले ने कहा कि यह सम्मेलन कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए दिल्ली की सीमा पर चल रहे किसान आंदोलन का समर्थन करने के लिए बुलाया गया है। उन्होंने बताया कि किसान सभा आजाद मैदान में होगी जिसमें महाविकास अघाडी के नेता हिस्सा लेंगे।

Gyan Dairy

एनसीपी प्रमुख शरद पवार, राज्य कांग्रेस अध्यक्ष व राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट और पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे सहित वामपंथी दलों के नेता भी रैली को संबोधित करेंगे। किसानों का एक प्रतिनिधिमंडल 25 जनवरी को राजभवन जाकर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को ज्ञापन सौंपेगे और साथ ही गणतंत्र दिवस के मौके पर आजाद मैदान में झंडा फहराएंगे।

 

Share