नीतीश कुमार : विधानसभा में हंगामे के बीच ने पेश किया विश्वासमत प्रस्ताव

बिहार सीएम नीतीश कुमार ने आज बिहार विधानसभा में हंगामे के बीच विश्वासमत पेश कर दिया है। राजद विधायक लगातार हंगामा कर रहे हैं। विधानसभा में नीतीश के अलावा सुशील मोदी भी मौजूद हैं। वहीं तेजस्वी यादव को विपक्ष नेता घोषित किया गया है।

पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि मैं इस प्रस्ताव के विरोध में खड़ा हूं. हमें बीजेपी के खिलाफ वोट मिला था, ये सब प्रीप्लान था। ये एक तरह से लोकतंत्र की हत्या है. बीजेपी के भी कई मंत्री हैं जिनपर आरोप हैं, नीतीश कुमार और सुशील मोदी पर भी आरोप हैं। उधर, बिहार में जेडीयू-बीजेपी सरकार के विरुद्ध राजद की याचिका हाईकोर्ट ने मंजूर कर ली है। इसको लेकर सुनवाई सोमवार को होगी।

नीतीश कुमार सरकार के पास 132 विधायकों का समर्थन हैं जिसमें से 71 विधायक जदयू के, 53 भाजपा के, 2 रालोसपा के, दो एलजीपी के, 1 एचएएम का और 3 निर्दलीय विधायक हैं। 243 सदस्यीय बिहार विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा 122 है।

Gyan Dairy

मेहरोत्रा ने बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी के बेहद संक्षिप्त राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में सत्र के लिए दो एजेंडा तय किए गए हैं।

  • पहला एजेंडा पूर्ववर्ती महागठबंधन सरकार के 28 जुलाई से 3 अगस्त तक दोनों सदनों का पांच दिवसीय मानसून सत्र बुलाने के फैसले को रद्द करना है।
  • दूसरा एजेंडा विश्वास मत हासिल करने के लिए कल विधानसभा का एक दिवसीय सत्र बुलाना है।
Share