ग्लेशियर हादसा: युद्ध स्तर पर चल रहा है राहत और बचाव कार्य, अभी तक 14 शव मिले

चमोली। उत्तराखंड के चमोली में रविवार ग्लेशियर टूटने से बड़ी तबाही मची। इस हादसे के बाद ऋषिगंगा घाटी में अचानक बाढ़ आ गयी। हालांकि, ऋषिगंगा में आई जल प्रलय का वेग अलकनंदा नदी में आते आते थम गया। इस कारण नदी तट पर बसे शहरों और कस्बे इसके प्रकोप से बच गए। इसके मुकाबले 2013 में आई आपदा से सभी जगह सतर्क दिखाई दिया तत्काल ही पुलिस-एसडीआरएफ की टीमों ने नदी तटों पर लोगों को आगाह किया।

वहीं, ग्लेशियर टूटने के बाद आई तबाही में अब तक करीब 100 से ज्यादा लोगों के लापता होने की आशंका है, जबकि 14 शवों को अभी तक ​बाहर निकाल लिया गया है।

वहीं, सुरंग और टनल में फंसे लोगों को बचाने का कार्य जारी है। चमोली जिले की चीन सीमा से जुड़े क्षेत्र में रविवार को एक ग्लेशियर के टूटन जाने से भारी तबाही मच गई। स्थानीय पुलिस और प्रशासन के अलावा एनडीआरएफ, आईटीबीपी और सेना राहत और बचाव में जुटी हैं। बता दें कि अबतक 14 शव मिल चुके हैं जबकि करीब 100 लोग अभी भी लापता हैं। वहीं, 12 लोगों को कल रेस्क्यू कर लिया गया था।

Gyan Dairy

 

Share