गुजरात : महिला के साथ रेलवे कर्मचारी ने किया चलती ट्रेन में बलात्कार, देखिये पीड़िता का बयान

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस में चलती ट्रेन में विकलांग कोच में बीमार मुस्लिम महिला से बलात्कार का मामला अभी सुलझा भी नही है कि, अब गुजरात के सूरत में एक महिला से चलती ट्रेन में रेप की वारदात को अंजाम दिया गया है।  मुताबिक 32 साल की महिला के साथ जयपुर-बांद्रा एक्सप्रेस में कथित रूप से रेप किया गया। खबर के मुताबिक महिला को ट्रेन की पेंट्री कार में ले जाकर रेप किया गया। इस मामले को लेकर पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए आरोपी शख्स को गिरफ्तार कर लिया गया है, पुलिस अब मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच में जुट गई है।

सिपाही की गिरफ्तारी के बाद खबर का संज्ञान आने पर कमल शुक्ला को निलंबित कर दिया गया था। अब एक बात तो बिलकुल साफ़ हो गई है कि, ऐसे तुच्छ मानसिकता वाले दरिंदे किसी भी जात-पात और धर्म को नहीं देखते हैं बल्की, इनके ऊपर हैवानियत सवार रहती है और ऐसे दरिंदे ही ऐसी घटना को इसलिए अंजाम देते हैं क्योंकि हमारे देश में पीड़ित महिला को इंसाफ मिलने में बहुत देर लग जाती है।

रिपोर्ट के मुताबिक, महिला ने कहा कि एक शख्स ने उसे सीट दिलाने का आश्वासन दिया इसके बाद उसने पेंट्री कार में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। गौरतलब है कि, उत्तर प्रदेश के बिजनौर में लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस में चलती ट्रेन के विकलांग कोच में रेलवे के सिपाही कमल शुक्ला ने एक बीमार मुस्लिम महिला से बलात्कार किया था। महिला ने आरोप लगाया था कि वह बिजनौर जनपद के चांदपुर रेलवे स्टेशन से बिजनौर आने के लिए लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस में सवार थी तभी एक जीआरपी के सिपाही ने उसे खाली डिब्बे में ले जाकर डरा धमकाकर बलात्कार किया।

Gyan Dairy

इसका ताजा उदाहरण अभी हमारे सामने है और वह है गुजरात के दंगों में हुए बिलकिस बानो का केस है जिसमें उन्हें इंसाफ मिलते-मिलते 15 साल से ज्यादा समय लग गया। ऐसे दरिंदों को ओनस्पॉट बीच चौराहे पर लटका कर मार देना चाहिए। ऐसे हैवानों के लिए ऐसी ही सजा होनी चाहिए ताकि फिर कभी ऐसे घटिया मानसिकता वाले व्यक्ति घिनौना काम करने से पहले हजार बार सोचे।

Share