मुख्तार के शूटर राकेश पांडे के एनकाउंटर पर मानवाधिकार ने DGP को भेजा नोटिस, जाने कैसे बना था माफिया

लखनऊ: पूर्वांचल के चर्चित माफिया मुख्तार अंसारी काफी लंबे अर्से से जेली में बंद हैं. योगी सरकार लगातार मुख्तार पर शिंकजा कसती चली जा रही है, हाल ही में मुख्तार के कब्जे से कई प्रापर्टी खाली करवाई गयी हैं, कई अवैध प्रा​पर्टियों को ध्वस्त भी किया गया हैं वहीं कुछ दिनो पहले मुख्तार के करीबी राकेश पांडेय को एनकाउंटर में मार दिया गया था. अब राकेश पांडेय के एनकाउंटर पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने यूपी पुलिस के डीजीपी एचसी अवस्थी को नोटिस भेजा है. इसके लिए 6 हफ्ते का वक्त दिया गया है.

बता दें कि राकेश पांडेय को यूपी पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया था. मुख्तार गैंग के इस सदस्य पर 1 लाख का इनाम रखा गया था. बता दें कि राकेश उर्फ हनुमान बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय के हत्या आरोपियों में भी शामिल था.

Gyan Dairy

बताया जाता है कि राकेश पांडेय मुन्ना बजरंगी के बुरे वक्त में उसके साथ आया था, मुन्ना के साथ मिलकर ही उसने जुर्म की दुनिया में कदम रखा. पूर्वांचल के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी से भी राकेश को मुन्ना बजरंगी ने ही मिलवाया था. जेल में की गयी खातिरदारी से खुश होकर ही मुख्तार ने राकेश का नाम हनुमान रख दिया था. इसी दौरान तत्कालीन मोहम्मदाबाद से भाजपा विधायक कृष्णानंद राय की हत्या की साजिश रची गयी. 29 नवंबर 2005 को गाजीपुर के मुहम्मदाबाद विधानसभा क्षेत्र के भांवरकोल ब्लॉक के सियाड़ी गांव में कृष्णानंद राय एक खेल प्रतियोगिता का उद्घाटन करने पहुंचे थे. उनके साथ कई सहयोगी भी थे. कार्यक्रम के बाद वह जैसे ही काफिले के साथ बासनिया छत्ती गांव के पास पहुंचे तो एक गाड़ी अचानक उनके काफिले के आगे रुकी. जब तक कोई कुछ समझ पाता गाड़ी से निकले सात-आठ लोगों ने विधायक कृष्णानंद राय की गाड़ी पर फायरिंग शुरू कर दी. इस दौरान गाड़ी में सवार सभी सातों लोग मारे गए थे. मरने वालों में विधायक कृष्णानंद राय, गनर निर्भय उपाध्याय, ड्राइवर मुन्ना यादव, रमेश राय, श्याम शंकर राय, अखिलेश राय और शेषनाथ सिंह शामिल थे. बताया जाता है कि कि हमलावरों ने 6 एके-47 राइफलों से 400 से ज्यादा गोलियां चलाई थीं. मारे गए सातों लोगों के शरीर से 67 गोलियां बरामद की गईं. पूर्वांचल की ये पहली वारदात थी, जिसमें एके-47 का इस्तेमाल हुआ. इस हत्याकांड के आरोपियों में राकेश पांडे उर्फ हनुमान का नाम बाद मे सामने आया था. बस यहीं से राकेश पांडे उर्फ हनुमान पूर्वांचल का बड़ा माफिया बन गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share