UA-128663252-1

जम्मू-कश्मीरः आतंकी के बेटे ने पेश की मिसाल, अनाथालय में पढ़कर पास की KAS परीक्षा

नई दिल्ली। केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर में अब आतंक की पकड़ ढीली हो गई है। संवेदनशील डोडा जिले के दूरदराज इलाके गुंदना से एक अच्छी खबर सामने आई है। यहां एक एनकाउंटर मारे गए आतंकी के बेटे ने जम्मू-कश्मीर की सबसे प्रतिष्ठित केएएस परीक्षा पास की है। आतंकी पिता के मारे जाने के बाद बेटे गाजी अब्दुल्ला की परवरिश श्रीनगर के एक अनाथालय में हुई।

जानकारी के मुताबिक अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से पढ़ाई के बाद गाजी अब्दुल्ला ने जम्मू-कश्मीर की सबसे प्रतिष्ठित कश्मीर प्रशासनिक सेवा (केएएस) परीक्षा पास की। भटपुरा गांव में इस होनहार के सम्मान में सेना ने विशेष समारोह आयोजित किया। 10 राष्ट्रीय राइफल्स के कार्यक्रम में गाजी अब्दुल्ला ने स्कूल विद्यार्थियों को अपने संघर्ष की कहानी सुनाकर कामयाबी का मंत्र दिया।

Gyan Dairy

डोडा के गुंदना इलाके के भटपुरा गांव में आयोजित समारोह के दौरान सेना की ओर से गाजी अब्दुल्ला की प्रेरक कहानी अन्य युवाओं और विद्यार्थियों से साझा की गई। सैन्य वक्ता ने कहा कि मुश्किल हालात में मेहनत से कैसे तकदीर बदली जा सकती है, गाजी अब्दुल्ला उसकी मिसाल हैं। आतंकवाद, गरीबी और विपरीत हालात से जूझते गाजी ने प्रतिष्ठित केएएस परीक्षा पास कर दिखाई है। गाजी ने कहा कि एक गरीब बच्चे से प्रशासनिक अफसर बनने तक के सफर में मुश्किलें बहुत आईं, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। आतंकवाद से मुक्त माहौल में युवा पीढ़ी के सामने संभावनाओं के असंख्य अवसर खुलते हैं।

Share