नीतीश की शपथ के बाद लालू का पहला बयान

बिहार में सत्ता पलट के बाद नीतीश कुमार के फिर से मुख्यमंत्री बनने पर राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव का पहला बयान सामने अाया है। उन्हाेंने कहा कि बिहार बहुत जागरूक राज्य है और नीतीश के कदम से लाेग नाराज है। मैं 15-20 साल से काेर्ट में केस लड़ रहा हूं। मुझे जल्दबाजी में सजा सुनाई गई। यह सब नीतीश और भाजपा की मिलीभगत थी। नीतीश काे ‘भस्मासुर’ बताते हुए उन्हाेंने कहा, उनका इतिहास रहा है कि वह सत्ता के लिए किसी के साथ भी समझौता कर सकते हैं। हमलोगों ने समझा था कि वे सुधर गए, लेकिन धारणा गलत निकली।

लालू ने कहा कि नीतीश नकली छवि बनाकर खुद काे पीएम मटीरियल बताते थे। अगर वह चाहते ताे उन्हें कभी सीएम नहीं बनाते, क्याेंकि उनके पास सिर्फ 71 विधायक थे। पीएम पर निशाना साधते हुए लालू ने कहा, मोदी ने अच्छे दिन का झांसा दिया था, लेकिन बिहार के लोगों ने उन्हें खाली हाथ वापस भेज दिया। महात्मा गांधी काे याद करते हुए उन्हाेंने कहा कि आरएसएस के लोगों ने महात्मा गांधी की हत्या की थी। अाज हमारे बीच देश को एक करने के लिए कोई गांधी नहीं हैं।

Gyan Dairy
Share