लालू यादव : रैली के लिए साधा कई दलों से संपर्क, बीजेपी ने कहा – आप तो अगस्त तक जेल में होंगे

आरजेडी सुप्रीमो के दिन अच्छे नहीं चल रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट से पिछले हफ्ते झटका मिलने के बाद कल उनके 22 ठिकानों पर आयकर अधिकारियों ने 1000 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति के मामले में छापेमारी की. हालांकि लालू ने इस कार्रवाई को बदले की राजनीति करार देते हुए सत्ता के दुरुपयोग का आरोप लगाया. लालू ने कुछ दिनों पहले अगस्त में पटना में रैली आयोजित करने की घोषणा की थी. राजद प्रमुख ने यह कदम बीजेपी पर जवाबी हमला करने के लिए उठाया था.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है कि वह पटना में आयोजित रैली में शामिल होंगी. वहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी कल यानी मंगलवार को लालू के आमंत्रण को स्वीकार करते हुए कहा था कि वह रैली में आएगी. आज लालू ने बसपा सुप्रीमो मायावती को कॉल किया और रैली में शामिल होने का आमंत्रण दिया. इतना ही नहीं, लालू ने बाम दलों के नेताओं से भी संपर्क साधा और समर्थन मांगा. हालांकि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से उन्होंने अभी तक संपर्क नहीं किया. उधर, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आरजेडी की रैली को लेकर खुलकर समर्थन करने से बच कर रहे हैं.

राजद की रैली को लालू केंद्र बनाम अन्य दल की लड़ाई बनाने की कोशिश कर रहे हैं. इसके लिए वे समूचे विपक्ष को एकजुट करने का प्रयास भी कर रहे हैं. गौरतलब है कि लालू की रैली पटना के गांधी मैदान में होनी है जिसमें 5 लाख लोगों के शामिल होने की संभावना है. यह रैली 27 अगस्त को होगी. यह रैली राष्ट्रपति चुनाव के ठीक बाद होगी.

Gyan Dairy

बिहार में लालू पर लगातार हमलावार रुख अपनाने वाले बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने कल कहा था कि  रैली की योजना अपरिपक्व है.  उनका कहना है कि अगस्त तक तो लालू जेल में होंगे. इस पर लालू ने तत्काल जवाब देते हुए कहा  “हाहाहा…. मेरा नाम लालू है और मुझे ऐसे लोगों पर दया आती है.” गौरतलब है कि लालू के पास सबसे ज्यादा विधायक है लेकिन नीतीश कुमार के जूनियर के तौर पर काम कर रहे हैं. कांग्रेस महागठबंधन की तीसरी सहयोगी पार्टी है.

Share