लालू की RJD ने जारी किया नया फरमान, अब हर महीने विधायकों को पार्टी फंड में देने होंगे 10 हजार

पटना: अमूमन सभी राजनीतिक पार्टियां पार्टी फंड जुटाने के लिए कार्यकर्ताओं से अपील करती हैं, व्यापारियों से मदद लेती हैं लेकिन लालू यादव की राष्ट्रीय जनता दल ने अपने विधायकों और विधान परिषद सदस्यों को हर महीने पार्टी फंड में 10 हजार रुपये जमा करवाने का निर्देश जारी किया है। जानकारी के मुताबिक, पार्टी ने 75 विधायकों (MLA) और 10 विधान पारिषद सदस्यों (MLC) को हर महीने 10 हजार रुपये पार्टी फंड में जमा कराने का आदेश जारी किया है।

पार्टी फंड में पैसा जमा कराने के लिए पूर्व विधायकों और MLC को भी नहीं बख्शा गया है। आरजेडी के पूर्व विधायकों और पूर्व MLC को भी हर महीने 4 हजार रुपये पार्टी फंड में जमा करने का निर्देश दिया गया है। राजद की माने तो पार्टी संचालन में पैसे की जरूरत होती है। पार्टी के विधायक और विधान पार्षद पैसे नहीं देगें तो कौन देगा।

राजद का यह भी आरोप है कि जदयू अपने सरकारी फंड से कार्यालय का निर्माण करवाया है, लेकिन राजद गरीब पार्टी है इसीलिए नेताओं से पैसे इकट्ठा कर रही है। जदयू ने राजद पर निशाना साधते हुए कहा की राजद सुप्रीमो भ्रष्‍टाचार के मामले में जेल में बंद है। नेता प्रतिपक्ष पर भी भ्रष्‍टाचार का आरोप है, दोनों मामले पैसे से संबंधित है। राजद को केवल पैसे से मतलब है चाहे भ्रष्‍टाचार से हो या फिर अपने नेताओं के जरिए हो।

हर पार्टी में नेताओं के द्वारा चंदा इकट्ठा किया जाता है। चाहे बीजेपी हो, जदयू हो या फिर कांग्रेस सभी पार्टी के नेता हर महीने पार्टी फंड में पैसे जमा करते है, लेकिन नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के इस आदेश के बाद अचानक राजनीति गर्म हो गई है। हालांकि बीजेपी की माने तो यह राजद के अंदरूनी मामला है।

Gyan Dairy

इस मसले को लेकर जेडीयू नेता अजय आलोक ने ट्वीट कर हमला किया है। उन्होंने लिखा, पहले टिकट के लिए पैसा दो, जीतने के बाद तनख़्वाह में कमीशन दो, हार गए हो तो पेंशन में कमीशन दो, अबे नोट खाते हो क्या? भूख की सीमा होती है, पैसा के मामले में लालू प्रसाद जी आपसे आगे निकल गया ये, कुबेर के राक्षसी साधक हैं ये।

 

Share