नीतीश कुमार ने कहा की बिहार में शराबबंदी एक बड़ा सामाजिक बदलाव है

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अगर देश को आगे बढ़ाना है तो उसे नशा से मुक्त करना होगा. उन्होंने यह बात अपनी निश्चय यात्रा के दौरान गुरुवार को सुपौल के गांधी मैदान में आयोजित चेतना सभा को संबोधित करते कही.

nitish-kumar2-1474164659

नीतीश कुमार ने कहा कि शराबबंदी के बाद बिहार में अपराध के आंकडों में कमी आई है. हत्या में 24 प्रतिशत, डकैती में 26 प्रतिशत, लूट में 16 प्रतिशत, फिरौती एवं अपहरण में 48 प्रतिशत, दंगा में 37 प्रतिशत और सड़क दुर्घटना में 19 प्रतिशत की कमी आई है.

नीतीश कुमार ने कहा कि चीन अफीम छोड़कर आज आगे बढ़ गया है, तो हम क्यों नहीं जा सकते. इसके लिए सब लोगों को सोचना एवं समझना होगा. उन्होंने कहा कि बिहार में बड़ा सामाजिक बदलाव का कार्य शराबबंदी का हुआ है, राज्य को शराबबंदी से काफी फायदा हुआ है.

नीतीश कुमार ने कहा कि अगर जनसंख्या के मुताबिक अपराध का प्रतिशत देखें तो बिहार का 22वां नंबर है और दिल्ली का पहला.

नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में प्रेम और सदभाव का माहौल है. बिहार में बुनियादी काम हो रहा है, इसको सुशासन कहते हैं.

Gyan Dairy

नीतीश कुमार ने कहा कि चीन अफीम छोड़कर आज आगे बढ़ गया है, तो हम क्यों नहीं जा सकते. इसके लिए सब लोगों को सोचना एवं समझना होगा. उन्होंने कहा कि बिहार में बड़ा सामाजिक बदलाव का कार्य शराबबंदी का हुआ है, राज्य को शराबबंदी से काफी फायदा हुआ है.

नीतीश ने कहा कि शराबबंदी से समाज का वातावरण बदल गया है. इसको कायम रखने के लिए वे 21 जनवरी से एक अभियान चलाएंगे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार को बदनाम किया जाता है, जबकि यहां कानून का राज है. उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ लोग बिहार की तरक्की को देखकर चिढ़ रहे हैं और एक-दो आपराधिक घटनाओं को लेकर बिहार को बदनाम करने की कोशिश करते हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि विरोधी उन पर आरोप लगाते थे कि शराबबंदी से सरकार का पांच हज़ार करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान हुआ है. उन्होंने कहा कि अगर सरकार का पांच हज़ार करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान हुआ है तो लोगों का दस हज़ार करोड़ रुपये बर्बाद होने से बच गया.

Share