कोरोना के बढ़ते प्रकोप के चलते एमपी के इस शहर में हुआ लॉकडाउन, मंदिर तक किए गये बंद

भोपाल: देश में लगातार कोरोना का कहर बढ़ता चला जा रहा है। एमपी के इंदौर में कोरोना महामारी की स्थिति से निपटने के लिए होली से पहले नए प्रतिबंध लगाए गए हैं। नए प्रतिबंधों में बाजार के घंटों में कटौती करना, रेस्तरां बंद करना, सभी धार्मिक स्थल, रविवार को लॉकडाउन और सार्वजनिक समारोहों में उपस्थित लोगों की संख्या को सीमित करना शामिल है।

शहर में संकट प्रबंधन समिति ने फैसला किया कि रात 10 बजे के बजाय बाजार 9 बजे बंद कर दिए जाएंगे। अगले आदेश तक सभी धार्मिक स्थानों को बंद कर दिया जाएगा और उनकी मण्डली को अनुमति नहीं दी जाएगी। लोगों को रेस्तरां में बैठने की अनुमति नहीं होगी जबकि घर पर ले जाने की अनुमति है। शादी के समय 50 से अधिक लोगों को शामिल होने की अनुमति होगी, जबकि अंतिम संस्‍कार समारोह में केवल 20 लोगों के इकट्ठा होने की अनुमति होगी।

रविवार को शहर पूरी तरह से बंद रहेगा। साथ ही, होली के अवसर पर समान प्रतिबंध भी लगाए जा सकते हैं। राज्‍य सरकार ने कहा है कि नियमों का उल्लंघन करने पर कड़ी कार्रवाई होगी।

कल, कैबिनेट मंत्री तुलसी सिलावत ने कहा कि शहर में दो दिन के लॉकडाउन लगाने पर विचार किया गया। अधिकारियों के साथ बैठक में इस बात पर चर्चा हुई कि क्या होली के त्योहार के दौरान शहर में दो दिवसीय लॉकडाउन की आवश्यकता है।

Gyan Dairy

बैठक के बाद उन्‍होंने पत्रकोरों को बताया, “इस मामले पर लोगों के साथ भी चर्चा की जाएगी और प्रस्ताव सरकार को भेजा जाएगा, जिसके बाद एक निर्णय लिया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पहले ही कह चुके हैं कि इंदौर में सभी धर्मों के त्योहारों को घर पर ही मनाया जाना चाहिए।”

इंदौर ने पिछले 24 घंटों में COVID-19 के 612 नए मामले दर्ज किए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, मध्य प्रदेश उन दस राज्यों में शामिल हैं, जिनमें कोरोना के नए मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। मध्‍य प्रदेश में पिछले 24 घंटों में 1,712 नए कोविड-19 मामले दर्ज किए।

Share