मध्यप्रदेश: दतिया राजघराने में संपत्ति को लेकर हुई मारपीट, गाड़ियां तोड़ीं, कांग्रेस विधायक पर एफआईआर

दतिया। मध्यप्रदेश के दतिया राजघराने में संपत्ति को लेकर खासा बवाल हो गया है। सेंवढ़ा से कांग्रेस विधायक घनश्याम सिंह के चचेरे भाई, उनकी मां के अलावा दो सहयोगियों के साथ मारपीट की गई। इस मामले में कांग्रेस विधायक के 15 से बीस समर्थकों के खिलाफ मारपीट, बलवा और हत्या की धमकी दिए जाने के आरोप में रिपोर्ट दर्ज की गई है। वहीं कांग्रेस विधायक ने भी परिवार के सदस्यों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए तहरीर दी है।

पुलिस के मुताबिक लखनऊ के खुर्शीदबाग निवासी गिरिराज सिंह पुुुत्र स्वर्गीय महाराज केशव सिंह ने कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई कि वह अपनी मां हेमलता सिंह के साथ तीन नवंबर को अपने पैतृक घर दतिया किले आए थे। उनसे मिलने के लिए रिश्तेदार अशोक विक्रम के साथ आशीष श्रीवास्तव भी आए थे। आरोप है कि उनके ताऊ के बेटे और सेंवढ़ा से कांग्रेस विधायक घनश्याम सिंह ने उन लोगों को किले के अंदर नहीं आने दिया।

जानकारी होने पर वह इन लोगों को अंदर ले आए। इस पर घनश्याम सिंह से विवाद हो गया। चार नवंबर की दोपहर दो बजे ये लोग उनसे मिलने फिर आए तो घनश्याम सिंह ने कहा कि अखाड़े के सामने जिन कमरों में तुम लोग रह रहे हो, उन्हें खाली कर दो। उन्होंने कमरे खाली करने से मना किया तो विधायक के साथ मौजूद लोगों ने गाली गलौज की। रोकने पर विधायक समर्थकों ने उन्हें, मां हेमलता सिंह, रिश्तेदार अशोक विक्रम और आशीष श्रीवास्तव के साथ मारपीट की, जिससे सभी लोग घायल हो गए। उनकी बोलेरो तथा रिश्तेदार अशोक विक्रम की ऑल्टो कार में भी तोड़फोड़ की। पुलिस ने गिरिराज सिंह की रिपोर्ट पर विधायक समर्थकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

Gyan Dairy

वहीं इस मामले में विधायक घनश्याम सिंह ने बताया कि गिरिराज सिंह तथा हेमलता सिंह उनके परिवार के हैं। उनका इन लोगों से संपत्ति का किसी भी प्रकार का विवाद नहीं है। इन लोगों को हिस्सा काफी पहले ही दिया जा चुका है। गिरिराज सिंह और हेमलता सिंह अपने लोगों के साथ जबरन किले में घुस आए और इलेक्ट्रिक कटर से ताले काट दिए। जब उन लोगों को रोका तो विवाद करने लगे। इस संबंध में उन्हाेंने भी पुलिस को आवेदन दिया है।

Share