NDA की जीत मगर नीतीश कुमार CM बनेंगे या नहीं, जाने BJP नेताओं की प्रतिक्रिया

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव से पहले एनडीए गठबंधन ने नितीश कुमार को सीएम बनाने का ऐलान किया था, लेकिन जब कल रिजल्ट आये तो बीजेपी से ज्यादा सीटों पर लड़ने वाली जेडीयू महज 43 सीटें जीतने में ही सफल हो सकी वहीं बीजेपी ने अधिकर सीटों पर जीत हासिल की है, जिसके बाद लगातार आवाजे उठ रही हैं कि बीजेपी का ही सीएम होना चाहिए। देर रात आए नतीजों के बाद सियासी गलियारों में यह सवाल खड़ा हो गया है कि नीतीश कुमार फिर से सीएम बनेंगे या नहीं। हालांकि बिहार के डिप्‍टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने सभी अटकलों पर विराम लगा दिया। उन्होंने स्पष्ट किया कि मुख्यमंत्री कौन बनने जा रहा है, इसे लेकर कोई भ्रम नहीं है। नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बने रहेंगे, यही हमारी प्रतिबद्धता थी।

बिहार के उपमुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता सुशील कुमार मोदी ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को एक और मौका देने के लिए बिहार की जनता को धन्यवाद भी दिया। एक मीडिया एजेंसी से बात करते हुए, सुशील मोदी ने कहा कि भारतीय राजनीति में कुछ ही मुख्यमंत्री थे, जिनपर जनता ने चौथी बार भरोसा किया।

उन्‍होंने कहा, ‘मैं बिहार के लोगों को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने चौथी बार एनडीए में विश्वास व्यक्त किया। यह साधारण नहीं है। भारतीय राजनीति में बहुत कम ऐसे सीएम हैं जिन पर लोगों ने चौथी बार भरोसा किया। उन्होंने एनडीए को स्पष्ट जनादेश दिया है, कोई भ्रम नहीं है।’

इसके साथ ही बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने भी कहा है कि कोई किंतु-परंतु का सवाल नहीं है, नीतीश कुमार ही सीएम बनेंगे। वहीं बिहार बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अध्यक्ष संजय जयसवाल ने कहा है कि इस पर कहीं कोई दिक्कत नहीं है। सीएम को लेकर पहले ही तय हो चुका है कि कौन सीएम बनेगा।

Gyan Dairy

इस साल के विधानसभा चुनाव में कुल 243 में से 125 सीटें जीतने के बाद एनडीए ने बिहार में वापसी की। भाजपा ने 74 सीटें जीतीं और गठबंधन में सबसे बड़ी पार्टी बनी। नीतीश कुमार की अगुवाई वाली जनता दल (यूनाइटेड) ने 43 सीटें जीतीं और एनडीए के अन्य सहयोगी दलों- विकासशील इन्सान पार्टी (वीआईपी) और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (एचएएम) ने चार-चार सीटें जीतने में कामयाबी हासिल की।

जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पोस्टर बीजेपी और जेडी (यू) के कार्यालयों के बाहर लगाए गए हैं, क्योंकि एनडीए ने महागठबंधन (महागठबंधन) को हरा दिया है। महागठबंधन में राष्ट्रीय जनता दल (राजद), कांग्रेस और अन्य वामपंथी दल शामिल हैं, जिनको कुल 110 सीटें मिली हैं।

243 विधानसभा सीटों में तीन चरणों में मतदान हुए थे। पहले चरण में 28 अक्टूबर को 71 सीटों पर मतदान हुआ, दूसरे चरण में 3 नवंबर को 94 सीटों पर और तीसरे व अंतिम चरण में 7 नवंबर को 78 सीटों पर मतदान हुआ।

Share