पंजाब : अमरिंदर सिंह का बादल परिवार पर कटाक्ष

पंजाब कांग्रेस के प्रमुख अमरिंदर सिंह ने बादल परिवार के सदस्यों को अपनी संपत्ति उनके साथ बदलने की चुनौती दी और उन्हें आजकल का असली महाराजा बताया.

amrinder-singh_v_650_041215072136

सत्ताधारी शिरोमणि अकाली दल-भाजपा गठबंधन के बारे में अमरिंदर ने दावा किया कि अकाली दल-भाजपा गठबंधन मुकाबले में कहीं नहीं है. आप के संस्थापक सदस्य और प्रदेश उपाध्यक्ष सीएम लखनपाल और तीन अन्य नेताओं – पीके शर्मा, इकबाल पन्नू और बरपूर सिंह का कांग्रेस में स्वागत करते हुए अमरिंदर ने दावा किया कि ‘आप’ का ग्राफ नीचे गिर रहा है, क्योंकि पंजाब के लोगों का उनसे मोहभंग हो चुका है.
उन्होंने यह भी कहा, अरविंद केजरीवाल का ये दावा महज एक छलावा है कि यदि उनकी पार्टी पंजाब की सत्ता में आती है, तो वह किसी दलित नेता को उप-मुख्यमंत्री बनाएंगे. उनकी दिल्ली सरकार में कोई सिख या दलित मंत्री नहीं है.

अमरिंदर ने आरोप लगाया कि पिछले दस वर्षों में बादल ने करोड़ों रुपये मूल्य की संपत्ति अर्जित की है. उन्होंने कहा, मैंने कई वर्ष पहले आपसे अपनी संपत्ति की अदला-बदली की पेशकश की थी और आज भी मैं ऐसा करने के लिए तैयार हूं. मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल द्वारा हाल में की गई व्यक्तिगत टिप्पणी के जवाब में अमरिंदर सिंह ने यह बात कही.

Gyan Dairy

इससे पूर्व पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह ने रविवार को दावा किया कि राज्य में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों में असल मुकाबला उनकी पार्टी और आम आदमी पार्टी (आप) के बीच है. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि आप की स्थिति कमजोर होती जा रही है और उसे प्रचार के लिए दूसरे राज्यों से 50,000 लोगों को लाना पड़ा है.

इसी बीच पूर्व अकाली दल के नेता कमलजीत सिंह करवाल ने यहां अमरिंदर सिंह से मुलाकात की और अपने समर्थकों के साथ पार्टी में शामिल होने की इच्छा जाहिर की. वह लुधियाना से निर्दलीय पाषर्द हैं.

अमरिंदर ने कहा, ऐसे गुमराह करने वाले बयानों के जरिए केजरीवाल पंजाब के लोगों को सिर्फ बेवकूफ बना रहे हैं. पंजाब में आप की कोई पकड़ नहीं है और उसने उत्तर प्रदेश एवं बिहार जैसे राज्यों से 50,000 लोगों को प्रचार के लिए बुला रखा है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस में हाल में शामिल हुए लोगों को ऐसी सीटों से टिकट दिए जाएंगे जहां अब तक पार्टी के कोई सक्रिय उम्मीदवार नहीं हैं.

Share