पंजाब: किसान आंदोलन थमने के आसार नहीं, रेलवे की मुश्किलें बढ़ी

नई दिल्‍ली। पंजाब में किसान संगठनों ने बुधवार को केंद्र के अड़ियल रुख को देखते हुए आंदोलन को जारी रखने की बात कहीं,जिससे वहां पर रेलवे के हालात और भी बिगड़ने लगे हैं। आंदोलन के चलते रेलवे को 33 ट्रेनें रद्द करनी पड़ीं,जबकि 11 ट्रेनों को रास्ते में ही रोक दिया गया। किसानों ने ट्रेनों के संचालन के पर कहा, कि सरकार को पहले मालगाड़ियों का परिचालन शुरू करने के बाद ही यात्री ट्रेनों के संचालन पर विचार करना चाहिए।

पंजाब में 52 दिनों से चल रहे किसान आंदोलन के चलते भारतीय रेल को प्रति दिन करोड़ों रुपये का नुकसान उठाना पड़ रहा है। किसानों के प्रस्‍ताव को ठुकराते हुए केंद्र सरकार ने कहा, कि राज्‍य में दोनों ट्रेनें चलेगीं अन्‍यथा कोई भी नहीं चलेगी। इसपर पंजाब किसान यूनियन के नेता रुलदू सिंह ने केंद्र सरकार को पंजाब के किसानों,कारोबारियों और श्रमिकों के खिलाफ इस अड़ियल रवैये की लेकर घनघोर निंदा की है। साथ ही 26 और 27 नवंबर को दिल्ली में होने वाले प्रदर्शन करने के उद्देश्य से ट्रैक्टर से जाने पर भी केंद्र सरकार ने रोक लगा दी है।

Gyan Dairy
Share