राजस्थान: गहलोत सरकार को बड़ी राहत, BSP विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ डाली गई बीजेपी की याचिका खारिज

जयपुर। जहां कुछ दिनो पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को हाईकोर्ट में सचिन पायलट के पक्ष में फैंसला आने की वजह से झटका लगा था वहीं आज हाईकोर्ट ने ही उन्हे बड़ी राहत दी है. हाई कोर्ट ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) विधायक मदन दिलावर की याचिका को खारिज कर दिया है. बता दें कि मदन दिलावर ने बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के सभी 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय करने के खिलाफ याचिका दाखिल की थी.

दरअसल, बीजेपी विधायक मदन दिलावर ने बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ पहले स्पीकर सीपी जोशी सामने याचिका दायर की थी लेकिन जब कोई कार्रवाई नहीं हुई तो उन्होने राजस्थान हाई कोर्ट में इसे चुनौती दी थी. वहीं आज इस मामले में सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने याचिका को खारिज कर दिया है.

बीएसपी की भी अर्जी खारिज

बीजेपी विधायक मदन दिलावर की याचिका में पक्षकार बनने के लिए बीएसपी ने आज अर्जी दाखिल की थी. बीएसपी की अर्जी पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने सोमवार यानी आज कहा कि जब मदन दिलावर की याचिका ही खारिज हो गई तो पार्टी (पक्षकार) बनने की जरूरत नहीं है.

Gyan Dairy

ये है पूरा मामला

बीजेपी विधायक मदन दिलावर ने स्पीकर सीपी जोशी के सामने 4 महीने पहले बसपा विधायक लखन सिंह (करौली), राजेन्द्र सिंह गुढ़ा (उदयपुरवाटी), दीपचंद खेड़िया (किशनगढ़ बास), जोगेन्दर सिंह अवाना (नदबई), संदीप कुमार (तिजारा) और वाजिब अली (नगर, भरतपुर) के कांग्रेस में शामिल होने के खिलाफ शिकायत की थी.

मदन दिलावर ने अपील की थी कि इन 6 विधायकों को दल-बदल कानून के तहत विधानसभा की सदस्यता से अयोग्य घोषित करें, लेकिन स्पीकर ने कोई कार्रवाई नहीं की. इसके बाद मदन दिलावर हाई कोर्ट पहुंच गए. इस बीच 24 जुलाई को स्पीकर ने शिकायत को निस्तारित कर दिया. इस वजह से हाई कोर्ट में अर्जी खारिज हो गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share