एनआईए के सामने सचिन वाझे ने स्वीकारा, सुपर कॉप बनने के लिए एंटीलिया के बाहर रखवाया था विस्फोटक

मुंबई। देश के सबसे बड़े उद्योगपति और रिलायंस इंड्रस्टीज के मुखिया मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटक लदी कार मिलने के मामले में एनआईए को अहम सुराग मिले हैं। एंटीलिया केस और मनसुख हिरेन की हत्या में गिरफ्तार पुलिस अधिकारी सचिन वाझे ने स्वीकार किया है कि उन्हें बलि का बकरा बनाया जा रहा है। निलंबित एपीआई वाझे ने एनआईए कोर्ट में कहा कि वह केवल डेढ़ दिन तक एंटीलिया केस के जांच अधिकारी थे। उन्होंने कहा कि क्राइम ब्रान्च और मुंबई पुलिस की टीम ने भी मामले की जांच की। कोर्ट ने वाझे को 3 अप्रैल तक एनआईए की हिरासत में भेज दिया है।

वहीं, एनआईए सूत्रों ने बताया कि सजिन वाझे ने एनआईए को बताया कि एंटीलिया के बाहर विस्फोटक लदी कार खड़ी करने के पीछे उन्हीं का हाथ है। सचिन वाझे ने बताया कि एंटीलिया के बाहर विस्फोटक इसलिए रखा क्योंकि जांच अधिकारी के रूप में इस केस को सॉल्व करके सुपर कॉप बनना चाहता था। मुंबई में 25 फरवरी को उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के निकट एक कार से विस्फोटक बरामद हुए थे। इस मामले में वाजे एनआईए की हिरासत में हैं। एनआईए ने एंटीलिया के पास से विस्फोटक मिलने के मामले में आरोपी निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे के खिलाफ बुधवार को गैरकानूनी गतिविधियां (निवारण) अधिनियम (यूएपीए) की धाराएं भी लगाई हैं।

Gyan Dairy
Share