हार के बाद एनडीए व चुनाव आयोग पर भड़के तेजस्वी यादव, लगाये संगीन आरोप

पटना: इस बार बिहार विधानसभा चुनाव में भले ही महागठबंधन की हार हो गयी हो लेकिन आरजेडी ने अपने प्रदर्शन से सबको चौंका दिया है, यही नही बिहार में सबसे ज्यादा सीटें हासिल करने वाली सिंगल पार्टी भी बनी है। बिहार में महागठबंधन की हार के बाद एनडीए पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव का बड़ा बयान सामने आया है। नतीजे आने के बाद पहली बार मीडिया के सामने आए तेजस्वी यादव ने एनडीए पर जमकर हमला बोला। तेजस्वी यादव ने कहा कि जनता का फैसला हमारे पक्ष में आया है, जबकि चुनाव आयोग का नतीजा एनडीए के पक्ष में आया है।

तेजस्वी यादव ने पीएम मोदी और सीएम नीतीश कुमार पर भी करारा हमला बोला है। तेजस्वी ने कहा कि चुनाव में धन, बल, छल सबका इस्तेमाल हुआ, फिर भी पीएम मोदी और नीतीश कुमार हमें नहीं रोक पाएं। उन्‍होंने कहा कि बिहार के लोगों ने नीतीश कुमार को नकार दिया है, उनकी पार्टी तीसरे नंबर पर पहुंच गई हैं, नीतीश को नैतिकता के आधार पर कुर्सी छोड़ देना चाहिए।

महागठबंधन विधायक दल के नेता चुने गए तेजस्वी

पटना में महागठबंधन में शामिल सभी घटक दलों के विधायकों की बैठक हुई, जिसमें राजद के नेता तेजस्वी यादव को विधायक दल का नेता चुन लिया गया। राजद के वरिष्ठ नेता मनोज झा ने बताया कि राजद के नवनिर्वाचित विधायकों की गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर बैठक हुई, जिसके बाद तेजस्वी यादव को विधायक दल का नेता चुना गया।

Gyan Dairy

इसके बाद महागठबंधन दल के नवनिर्वाचित विधायकों ने तेजस्वी को विधायक दल का नेता चुन लिया। इस बैठक में वामपंथी दल और कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायक शामिल हैं। तेजस्वी ने सभी नवनिर्वाचित विधायकों को अभिवादन किया और उनका स्वागत किया। इसके बाद उन्होंने नवनिर्वाचित विधायकों को संबोधित किया।

बता दें कि बिहार चुनाव में महागठबंधन तेजस्वी यादव के नेतृत्व में चुनाव मैदान में उतरी थी। लेकिन मात्र उसे 110 सीटों पर ही संतोष करना पड़ा, जबकि एनडीए को 125 सीट आई। महागठबंधन में सबसे कमजोर कड़ी कांग्रेस साबित हुई, जो 70 सीटों पर लड़ने के बाद मात्र 19 सीट की जीत सकी। इसके साथ ही तेजस्‍वी यादव के नेतृत्‍व में राजद प्रदेश में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी।

 

Share