UA-128663252-1

शादी के दूसरे दिन 80 हजार लेकर फरार हुई लुटेरी दूल्हन, नौ माह बाद ऐसे आई पकड़ में

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश में शादी के दूसरे दिन भागने वाली लुटेरी दुल्हन 9 महीने बाद अपने असली पति के साथ पकड़ ली गई। पूछताछ में पता चला है कि आरोपी दम्पति किसी और को ठगने जा रहे थे।

पुलिस के मुताबिक उज्जैन में रहने वाले बस कंडक्टर चंद्रशेखर मालवीय ने 9 महीने पहले आशा नाम की युवती से शादी की थी। चंद्रशेखरब की शादी चंदर नागर नाम के शख्स ने करायी थी। शादी के लिए आशा ने बहाने से चंद्रशेखर से 80 हजार रुपये वसूले थे। इसके बाद शादी के अगले दिन ही वह बहाना बनाकर भाग गयी। हालांकि तब तक चंद्रशेखर उस पर कुल एक लाख रुपए खर्च कर चुका था।

धोखाधड़ी का शिकार हुए चंद्रशेखर और उसके परिवार ने नानाखेड़ा थाने से लेकर वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों तक से शिकायत की, लेकिन लुटेरी दुल्हन आशा का कोई सुराग नहीं मिल पाया। संयोग से चंद्रशेखर को ही वह एक बस में बैठी दिख गयी। चंद्रशेखर ने फौरन पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस ने महामृत्युंजय द्वार पर बस को रोककर उसमें सवार दुल्हन और उसके साथ आई एक युवती और युवक को हिरासत में ले लिया।

Gyan Dairy

पुलिस ने तीनों से पूछताछ की गई तो पता चला कि उसके साथ पकड़ा गया युवक इस लुटेरी दुल्हन का असली पति है। पति-पत्नी फिर किसी को शादी के चंगुल में फंसाने जा रहे थे। पुलिस ने जब लुटेरी दुल्हन को पकड़ा तो वह फूट-फूट कर रोने लगी। वह अपने किए पर पछता रही थी।

Share