डॉ एपीजे अब्दुल कलाम राष्ट्रीय पुरस्कार 2020 की थीम घोषित, संकल्प “कुपोषण मुक्त भारत”

नीति आयोग ने जारी किया स्वर्ण भारत परिवार को पत्र,मिलकर करेंगे कुपोषण का अंत

 

देश के प्रतिष्ठित राष्ट्रीय अवार्ड डॉ एपीजे अब्दुल कलाम राष्ट्रीय पुरस्कार 2020 की सम्पूर्ण रूप रेखा आज जारी की गई, कार्यक्रम दिन में 2 बजे से शाम 7 बजे तक ज़ूम,य गूगल मीट के माध्यम से किया जाएगा, कार्यक्रम की प्राइम थीम नीति आयोग के डायरेक्शन के अनुसार राष्ट्रीय पोषण माह के मद्देनजर संकल्प “कुपोषण मुक्त भारत” को बनाया गया ।

सभीं चयनित अभ्यर्थियों को कार्यक्रम में भाग लेना अनिवार्य है, साथ ही कुपोषण मुक्त भारत के संकल्प को दोहराते हुए स्वर्ण भारत परिवार चयन समिति को अपना वीडियो संदेश प्रेषित करना है, वीडियो के माध्यम से आम जनजागरूकता अभियान में भाग लेना होगा,व अपने सुझाव स्वर्ण भारत परिवार को लिखित रूप में भी सौपने होंगे जो समाचार समूहों के माध्यम से प्रकाशित किये जायेंगे व स्वर्ण भारत की पत्रिका में आपके सुझाव फ़ोटो सहित छापे जाएंगे।

Gyan Dairy

चयनित उम्मीदवारों को वर्चुअल मीट में कुपोषण मुक्त भारत बनाने पर सुझाव व पैनल पर अपने विचार रखने होंगे। इस मौके पर चयन समिति की पुनः घोषणा की गई ,अजिता सिंह जी , डॉ सीमा मिश्रा, एडवोकेट रंजीत पांडेय, नीरज पांडेय,डॉक्टर राधा बाल्मीकि को चयन समिति का अध्यक्ष व कंचन शर्मा जी को चयन समिति का सचिव घोषित किया गया, विशेष सहयोगी के रूप में दिशा फाउंडेशन को शामिल किया गया कार्यक्रम प्रभारी संतोष पांडेय प्रवक्ता स्वर्ण भारत परिवार को बनाया गया ।

इस मौके पर पीयूष पण्डित ने कहा कि महिला और बाल विकास मंत्रालय की मुहिम को स्वर्ण भारत परिवार पूरे भारत वर्ष में चला रहा है, देश में कुपोषण (Malnutrition)की समस्या काफी गंभीर स्थिति में है। राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-4 के मुताबिक, भारत के 38 फीसदी बच्चों की लंबाई कम है। वहीं, 21 फीसदी बच्चों का वजन उनकी लंबाई के अनुपात में काफी कम है, जबकि 35 फीसदी से ज्‍यादा बच्‍चों का वजन कम है। इन सभी समस्‍याओं से निपटने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने 2018 में पोषण अभियान शुरू किया था। इसी क्रम में पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने आज तीसरे राष्‍ट्रीय ‘पोषण माह’ 2020 की शुरुआत की। इस दौरान पीएम मोदी ने हर भारतीय से देश को कुपोषण से निजात (Malnutrition-free) दिलाने में योगदान की अपील की।

रोशनी लाल ट्रस्टी स्वर्ण भारत परिवार ने लोगों से माय गवर्नमेंट वेबसाइट पर हेल्‍दी रेसेपी, न्‍यूट्रीशियस डिशेस शेयर करने को कहा। उन्‍होंने कहा, ‘चलिए, लोकल फॉर पोषण बना जाए.’ हमारे देश में बहुत से सेहतमंद भोजन बनते हैं, जिनमें बहुत ज्‍यादा पोषक तत्व होते हैं। उन्हें सरकार की व स्वर्ण भारत परिवार की वेबसाइट पर साझा करें। आपके इस सहयोग से पोषक व स्वस्थ भारत के निर्माण में मिलेगी.कार्यक्रम के बाद तुरंत संकल्प स्वरूप महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, नीति आयोग ,यूनाइटेड नेशन के सपोर्ट के साथ डॉ एपीजे अब्दुल कलाम राष्ट्रीय पुरस्कार 2020 प्रदान किया जाएगा ।

Share