UA-128663252-1

ग्लोबल गांधी पीस पुरस्कार को लेकर स्वर्ण भारत परिवार के साथ आया उदयकौशल फॉउंडेशन

उदय चन्द बारूपाल, पूर्व जिला एवं सेशन न्यायधीश ने की स्वर्ण भारत की सेवानीति की प्रशंसा

स्वर्ण भारत परिवार द्वारा संचालित अंतर्राष्ट्रीय युवा विकास कार्यक्रम और वैश्विक शांति पुरस्कार बोर्ड, ग्लोबल गांधी पीस पुरस्कार का आयोजन कर रहा है, इस आयोजन में जयपुर की प्रमुख्य संस्था उदयकौशल फाउंडेशन भी आज स्वर्ण भारत परिवार के सा साथ जुड़ गयी है। संस्था की संस्थापक उदयचंद बारूपाल ने कहा सेवानीति को समर्थन है, ग्लोबल गांधी पीस पुरस्कार में हम सहयोग करेंगे और युवा नशा मुक्ति की ओर हो ऐसा प्रयास करेंगे। स्वर्ण भारत परिवार के राष्ट्रीय अध्यक्ष पियूष पण्डित ने अंतर्राष्ट्रीय युवा विकास और वैश्विक गांधी शांति पुरस्कार व शिखर सम्मेलन हेतु मेल भेजकर बारूपाल को निमंत्रण दिया है।

स्वर्ण भारत परिवार वैश्विक मंच पर अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुका है। पिछले कई कार्यक्रमो में स्वर्ण भारत परिवार ने एक अहम सफलता प्राप्त की है। देश विदेश में स्वर्ण भारत परिवार ट्रस्ट की सेवानीति की चर्चा आम हो गई है। पीयूष पण्डित यूनाइटेड नेशंस के सतत विकास के लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु स्वर्ण भारत के साथ दृढ़ संकल्पित हैं। जो युवा विश्व के किसी भी कोने में युवा विकास व वैश्विक शांति हेतु कार्य कर रहे हैं, स्वर्ण भारत परिवार उन्हें दो अक्टूबर को गूगल मीट द्वारा होने वाले शिखर सम्मेलन में आमंत्रित करता है। विश्व के 51 विशिष्ट योग्यता रखने वाले युवाओं को ग्लोबल गांधी पीस पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा ।

Gyan Dairy

शिखर समेलन में अंतराष्ट्रीय स्तर पर युवाओं के विकास पर चर्चा होगी, कार्यक्रम की कोर कमेटी की घोषणा शीघ्र होगी। साथ ही मीडिया से बात करते हुए स्वर्ण भारत परिवार के अध्यक्ष पीयूष पण्डित ने कहा, संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्य को 2030 से पहले प्राप्त करने की दिशा में स्वर्ण भारत परिवार लक्ष्य दूत का चयन हर राज्य में करेगा, जिसकी शुरुवात इसी कार्यक्रम में होगी ।

स्वर्ण भारत परिवार महिला कल्याण बोर्ड की मुखिया अंजू पण्डित ने कहां स्वर्ण भारत सभी राज्यों में यूनाइटेड नेशंस के लक्ष्य के अनुसार एम्बेस्डर घोषित करेगा, जो दिए गए विषय को अपने राज्य में प्रसारित प्रचारित करेगा। दिव्यांग कल्याण बोर्ड की अध्यक्षा शताब्दी अवस्थी ने कहा कि स्वर्ण भारत परिवार 2021 तक पूरे विश्व मे अपनी सेवानीति का परचम लहराने हेतु दृढ़संकल्पित है।

Share