यूपी उपचुनाव: बांगरमऊ पहुुंचे कांग्रेसी नेता प्रमोद तिवारी बोले- यहां के लोगों ने गोरे अंग्रेजों को भगाया था, अब काले अंग्रेजों को भगाना है

उन्नाव: बिहार प्रदेश के साथ साथ देश के कई राज्यों में उपचुनाव भी सम्पन्न करवाए जा रहे हैं, इस दौरान यूपी की सात विधानसभा सीटों पर 3 नवंबर को मतदान होना है और 10 नवंबर को सभी के परिणाम घोषित किए जाएंगे. इसी कड़ी में शुक्रवार को उन्नाव के बंगरमऊ सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी आरती बाजपेई के पक्ष में वोट करने की अपील करने पहुंचे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने कहा कि “बांगरमऊ मेरे लिए तो घर, मेरा परिवार है और आरती बाजपेई मेरे लिए परिवार की सदस्य. जब अंग्रेजों का राज था तो उन्नाव जिले से चंद्रशेखर आज़ाद ने ही गोरे अंग्रेजों संदेश दिया था भारत छोड़ने का. इस चुनाव में बांगरमऊ की धरती से अब काले अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई शुरू होनी चाहिए. काले अंग्रेज और नहीं बल्कि वह विचारधारा है जो इस समय देश पर राज कर रही है.”

इस दौरान उन्होंने बीजेपी पर हमला करते हुए किसानों का मुद्दा उठाया। कहा, “ पूंजीपति कमाने के लिए होता है. सरकार आम जनता के कल्याण के लिए होती है. सूखा पड़ गया या बाढ़ आ गई तो फिर सरकार की जिम्मेदारी होती है कि किसान जिंदा रहे और उसके लिए उसको न्यूनतम समर्थन मिलता रहा है. तिवारी ने कहा कि इस बार जनता को क्या करना है कि इस चुनाव में फैसला करना है. उन्होंने कहा कि हाथरस, बुलंदशहर, बलरामपुर, बाराबंकी, बागपत, प्रयागराज, आजमगढ़ और वाराणसी में 13 बलात्कार हुए. बेटी जब घर के बाहर जाती तो मां-बाप ही सोचते सुरक्षित लौट आए. इससे पता चलता है कि कानून व्यवस्था कैसी है?

Gyan Dairy

गौरतलब है कि उन्नाव की बांगरमऊ सीट पर उपचुनाव रेप केस में सजा काट रहे कुलदीप सिंह सेंगर की सदस्यता रद्द होने की वजह से हो रहा है. बता दें कि उन्नाव की बांगरमऊ सीट पर पार्टी प्रत्याशियों की बात करें तो कांग्रेस ने अपनी पूर्व प्रत्याशी आरती बाजपेई पर तीसरी बार भरोसा जताया है. आरती बाजपेई यूपी में गृहमंत्री रह चुके गोपीनाथ दीक्षित की पुत्री हैं. आरती बाजपेई पहले से ही डोर टू डोर कैम्पेन कर रही हैं. वहीं बीजेपी ने अपने पूर्व जिलाध्यक्ष श्रीकांत कटियार को अपना प्रत्याशी बनाया है. सपा ने सुरेश पाल तो बसपा से महेश पाल ताल ठोक रहे हैं.

Share