सीएम योगी के शपथ कार्यक्रम में खर्च हुई थी करोड़ों की रकम, अब होगी जांच

सीएम योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में हुए भारी खर्च की जांच शुरू हो गयी है। लखनऊ डेवलपमेंट अथॉरिटी यानी एलडीए ने कार्यक्रम पर एक करोड़ 83 लाख खर्च कर दिए थे। सूत्रों के मुताबिक इस खर्च के लिए लखनऊ विकास प्राधिकरण के एक पूर्व अधिकारी शक के घेरे में हैं।

शायद यही वजह है कि योगी के शपथ ग्रहण समारोह का एक करोड़ 83 लाख का बिल जब लखनऊ डेवलपमेंट अथॉरिटी ने सचिवालय को भेजा तो उसकी जांच के आदेश दे दिए गए। सूत्रों के मुताबिक, इस खर्च को लेकर एलडीए के तत्कालीन उपाध्यक्ष सत्येंद्र वीर सिंह पर गड़बड़ी करने का शक है। हालांकि इस मामले का पूरा सच तो जांच के बाद ही सामने आएगा।

योगी आदित्यनाथ के इस भव्य शपथ ग्रहण समारोह पर एक करोड़ तिरासी लाख रुपये खर्च हुए थे। ये रकम मंच से लेकर टेंट, ऑडियो सिस्टम और खान-पान पर खर्च हुई थी। इसके मुकाबले पांच साल पहले 15 मार्च 2012 को अखिलेश यादव के शपथ ग्रहण समारोह में सिर्फ 90 लाख रुपये खर्च हुए थे। ये रकम योगी के शपथ ग्रहण समारोह के मुकाबले आधी ही है।

Gyan Dairy

रिपोर्ट्स के मुताबिक एलडीए सेक्रेटरी जयशंकर दूबे ने कहा, हमसे इस मामले में शासन की ओर से खर्च की डिटेल मांगी गई थी। उसे हमने लिखित तौर पर शासन को भेज दिया है।

योगी आदित्यनाथ ने 19 मार्च 2017 को लखनऊ के स्मृति उपवन में यूपी के सीएम पद की शपथ ली थी। इस प्रोग्राम में पीएम नरेंद्र मोदी, बीजेपी राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह और लालकृष्ण आडवाणी समेत बीजेपी के कई बड़े नेता मौजूद थे।

Share