4 साल की बेटी चुप नहीं हुई तो पिता ने दबाया गला, 20 दिन पहले छोड़ गई थी पत्नी

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के खोड़ा में रहने वाले एक सिरफिरे टेंपो चालक ने गुरुवार को अपनी चार साल की मासूम बेटी की हत्या कर दी। इसके बाद वह मासूम को शव टेम्पो में लेकर छह घंटे तक गाजियाबाद और नोएडा की सड़कों पर घूमता रहा। इसके बाद आरोपी के भाई की सूचना पर नोएडा पुलिस ने आरोपी टैम्पो चालक को पकड़ लिया और खोड़ा पुलिस के सुपुर्द कर दिया।

पुलिस से पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसकी पत्नी तीन साल के बेटे के साथ उसे करीब बीस दिन पहले छोड़कर कहीं चली गई है। गुरुवार दोपहर उसकी बेटी लगातार अपने भाई और मां को याद कर रो रही थी। चुप नहीं होने पर उसने गुस्से में उसका गला दबा दिया। उसके बाद शव को टेंपो में ही रखकर अपनी पत्नी की तलाश कर रहा था।

मूलरूप से सुल्तानपुर के बेगराजपुर कूरेभार का रहने वाला वासुदेव गुप्ता खोड़ा की नेहरू गार्डन कॉलोनी में रहता है और हाफ डाला चलाता है। आरोपी की पत्नी स्पा सेंटर में काम करती थी। करीब 20 दिन पहले आरोपी की पत्नी तीन साल के बेटे को लेकर घर छोड़कर कहीं चली गई है। चार साल की बेटी अदिति पिता के पास ही थी। गुरुवार दोपहर में अदिति अपने भाई और मां को याद कर रो रही थी।

Gyan Dairy

वासुदेव ने उसे चुप कराने और बहलाने का प्रयास किया, लेकिन बच्ची चुप नहीं हुई। इससे गुस्साए वासुदेव ने उसका गला दबा दिया। इससे बच्ची की मौत हो गई। आरोपी इसके बाद बच्ची के शव को टेंपो में रखकर पत्नी को तलाशने निकल पड़ा। नोएडा सेक्टर-11 में रहने वाला वासुदेव का भाई रवि शाम करीब 5 बजे खोड़ा उसके आवास पर आया, लेकिन उसे घर नहीं पाने पर उसने आशंका में पुलिस को उसके लापता होने की सूचना 112 पर पुलिस को दी।

शाम करीब 6 बजे आरोपी को नोएडा पुलिस ने सेक्टर-11 से पकड़ लिया। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने अपना गुनाह कबूल कर लिया। बच्ची की मौत खोड़ा में ही हो गई थी, इसलिए नोएडा पुलिस ने खोड़ा पुलिस को मामले की सूचना देकर आरोपी खोड़ा पुलिस को सौंप दिया। सेक्टर-24 थाना प्रभारी प्रभात दीक्षित के मुताबिक, आरोपी टेंपो में ही बच्ची के शव को लेकर पत्नी को तलाश रहा था। इस मामले में खोड़ा थाना प्रभारी असलम का कहना है कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। बच्ची के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है।

Share