भैंस-बकरी लूटने के मामलों में सांसद आजम खान का नाम भी शामिल,जानें पूरा मामला

उत्तर प्रदेश। यूपी में सपा सांसद आजम खां की मुश्किलें थमने का नाम ही नही ले रही । अब रामपुर के चर्चित डूंगरपुर प्रकरण में घरों में तोड़फोड़ करने के साथ ही भैंस-बकरी लूटने के मामलों में भी आजम खां का नाम शामिल हो गया है। पुलिस विवेचना के बाद जल्द ही 11 मुकदमों में चार्जशीट दाखिल करने की तैयारी में लगा हुआ है। सूबे में सत्ता परिवर्तन के बाद आजम की घेराबंदी शुरू हो गई थी,लेकिन मुश्किलें बढ़ती ही जा रही है।

पत्नी-बेटे के साथ सीतापुर जेल में धोखाधड़ी के आरोप में बंद आजम खां का नाम अब गंज कोतवाली के चर्चित डूंगरपुर कांड में भी उनका नाम शामिल हो गया है। आरोप है कि डूंगरपुर में जबरन घर खाली कराते वक्त वहां के वाशिंदों के घरों में लूट की गई थी। आरोपियों ने पीड़ितों के घर से कीमती सामान से लेकर भैंस-बकरियां तक लूट ली थीं। यह सब आजम खां के कहने पर हुआ था। पुलिस ने डूंगरपुर प्रकरण में गिरफ्तार किए गए आरोपियों के बयानों के आधार पर विवेचना के बाद आजम खां का नाम लिस्ट में शामिल कर लिया गया है।

Gyan Dairy

आज से सात साल पहले भैंस चोरी होने पर आजम खान ने तीन पुलिसकर्मी को सस्पेंड किया था। उन दिनों यूपी में सपा की सरकार थी। सपा में आजम खान कैबिनेट मंत्री थे। इसी बीच आजम खान की सात भैंसें गायब हो गईं। कैबिनेट मंत्री की भैंस चोरी होने की खबर से रामपुर से लेकर लखनऊ तक सरकारी अमले में खलबली मच गई। अफसर सारा कामकाज छोड़कर उनकी भैंस ढूंढने में लग गए। समय से पहले भैंस नहीं मिली तो कैबिनेट मंत्री आजम खान ने एक चौकी इंचार्ज और दो कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया। हालांकि बाद में सातों भैंसें मिल गई थी।

Share