एक्शन में सीएम योगी, निलंबित SP मणिलाल पाटीदार और दो SO पर FIR

लखनऊ। भ्रष्टाचार पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की नजर टेढ़ी हो गई है। सीएम के निर्देश पर महोबा के निलंबित पुलिस अधीक्षक मणिलाल पाटीदार व दो थाना के प्रभारियों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज हो गई है। प्रदेश सरकार ने आज ही मणिलाल पाटीदार के साथ प्रयागराज के एसएसपी रहे अभिषेक दीक्षित के खिलाफ विजिलेंस जांच का आदेश भी दिया है।

महोबा नगर कोतवाली में पूर्व एसपी मणिलाल पाटीदार के खिलाफ आज भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम और आईपीसी की धाराओं में केस दर्ज किया गया है। लखनऊ के पीपी पांडे इन्फ्राट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड की लिखित शिकायत पर शासन के निर्देश पर यह कार्रवाई की गई है। उनके साथ ही तत्कालीन निरीक्षक चरखारी राकेश कुमार सरोज और तत्कालीन एसओ खरेला राजू सिंह के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है।

Gyan Dairy

महोबा में एसपी का कार्यभार संभालने के बाद ही एसपी अरुण कुमार श्रीवास्तव ने दो थाना प्रभारियों सहित चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। यहां के कबरई के व्यापारी प्रकरण में सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को पुलिस अधीक्षक मणिलाल पाटीदार को निलंबित किया था तो आज कार्यभार संभालने के बाद एसपी अरुण कुमार श्रीवास्तव ने चाबुक चला दिया। उन्होंने कबरई थानाध्यक्ष देवेंद्र शुक्ला, थाना खन्ना प्रभारी राकेश कुमार सरोज, कुलपहाड़ कोतवाली के वरिष्ठ उपनिरीक्षक राजू सिंह व आरक्षी राजकुमार कश्यप को निलंबित किया है। इन लोगों पर आरोप है कि इनसभी ने व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी पर पैसों के लिए दबाव बनाया गया और न देने पर धमकी दी गई। इसके साथ ही पूर्व एसपी मणिलाल के निर्देश पर एक कंपनी के मैनेजर की गाडिय़ों का चालान करने के बाद एसपी को पैसे देने के लिए दबाव बनाया।

Share