सैन्यकर्मी ससुर की मौत के बाद सास के नाम पर 30 साल से पेंशन ले रही थी बहू, गिरफ्तार

कानपुर। उत्तर प्रदेश के इटावा जिले से एक चौंकाने वाली खबर सामने आ रही है। यहां के चकरनगर क्षेत्र में एक सैन्य कर्मी की कई साल पहले मौत हो गई थी। कागजातों में हेराफेरी करके उसकी बहू अपने ससुर की पत्नी बन बैठी और पेंशन का लाभ लेती रही। मृतक सैन्य कर्मी ससुर की पत्नी बनकर 30 साल से अधिक समय से पेंशन ले रही बहू विद्यावती को सहसों थाना पुलिस ने शुक्रवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट में पेश किया।

इटावा पुलिस ने बताया कि सिंडौस गांव निवासी गंगाराम सिंह राजावत राजपूत रेजीमेंट की फतेहगढ़ यूनिट में सिपाही थे। साल 1985 में उनकी ड्यूटी के दौरान मौत हो गई थी। ग्रामीणों ने बताया कि गंगाराम की पत्नी शकुंलता की पति से पहले ही मौत हो चुकी थी। इनका बेटा अमोल सिंह व बहू विद्यावती परिवार के साथ गांव में रहते हैं। आरोप है कि गंगाराम की मौत के बाद कागजों में हेराफेरी करके विद्यावती गंगाराम की पत्नी शकुंतला देवी बन गई।

इसके बाद करीब 30 वर्ष से अधिक तक वह शकुंतला के नाम पर पेंशन ले रही थी। कुछ समय पहले इसकी जानकारी एक फौजी को लगी। उसने सैनिक कल्याण बोर्ड में इसकी शिकायत की। सैनिक कल्याण बोर्ड ने मामले में प्रयागराज हाईकोर्ट में मामले की शिकायत दर्ज कराई। हाईकोर्ट ने इस संबंध में पिछले दिनों इटावा पुलिस को नोटिस जारी कर महिला को कोर्ट में पेश कराने का आदेश दिया था। मामला चर्चा में आने के बाद विद्यावती घर से फरार हो गई। उसकी तलाश में सहसों थाना पुलिस ने लखना, महेवा, बकेवर, भिंड समेत स्थानों पर दबिशें दीं।

Gyan Dairy

सहसों पुलिस ने गुरुवार को सहसों क्षेत्र से उसे पकड़ लिया। शुक्रवार को पुलिस ने उसे हाईकोर्ट में पेश किया। वहां बयान दर्ज कराने के कोर्ट ने मामले की सुनवाई की तारीख 22 मार्च मुकर्रर की। विद्यावती को अग्रिम आदेश तक इटावा के नारी निकेतन में रखने के आदेश दिए। थाना प्रभारी ने बताया कि कोर्ट ने पुलिस को 48 घंटे के भीतर मामले की जांच रिपोर्ट पेश करने के आदेश भी दिए हैं। कोर्ट के आदेश के मुताबिक आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Share