गंगा नदी में यात्रियों से भरी नाव पलटने से अफरा-तफरी का माहौल, सभी यात्री सुरक्षित

मिर्जापुर। यूपी के मिर्ज़ापुर के जिले के विंध्याचल थाना क्षेत्र के राम गया घाट पर आज एक बड़ा हादसा होते होते बच गया है। मंगलवार यानी आज करीब 12ः30 बजे के करीब यात्रियों से भरी नाव गंगा में डूब जाने से आस-पास के इलाके में हड़कंप मच गया। नाव में करीब 18 महिलाएं और पुरुष सवार थे। गंगा किनारे मौजूद मल्लाहों व पुलिस ने स्टीमर की मदद से उन्हें सकुशल बाहर निकालने में सफल रहे। लेकिन इस घटना के कारण लोगों में काफी डर देखने को मिला। इनमें से तीन यात्रियों के अधिक पानी पी लेने से यात्रियों की हालत बेहद गंभीर बनी हुुुई है। उन्हेंं स्थानीय अस्पताल में भरती कराया गया है। विंध्याचल कोतवाली क्षेत्र के राम गया घाट के आसपास रहने वाले लोग गंगा पार चिलह थाना क्षेत्र के विभिन्न गांव में मटर के खेत में मजदूरी करने के लिए जाते हैं। मंगलवार की सुबह चार नाव से सवार हो कर सभी गंगा पार जा रहे थे।

इसमें तीन बड़ी नावों पर सवार होकर सभी लोग गंगा के उस पार पहुंच गए। लेकिन छोटी नाव में सवार 18 लोगों की नाव बीच गंगा में पलट जाने से यह हादसा हो गया। नाव पलटते ही आस-पास के मल्लाह लोग शोर मचाने लगे। मल्लाहों की सूचना पर पहुची पुलिस ने स्टीमर की मदद से यात्रियों को किसी तरह बाहर निकाला। जिनमें से कुछ यात्रियों की हालत गम्भीर देख उन्हें विंध्याचल अस्पताल में भर्ती कराया। नाव में सवार सुदेवी, नेमा, जीयूती, शीला पत्नी पतालू उम्र करीब, शनि पुत्र नान्हक, नाव चालक, बल्लू पुत्र तोड़न,नाव चालक, पायल पुत्र संतोष, श्रेया पुत्री नन्दन, सुधा पुत्री श्यामलाल, खुशी पुत्री रामनन्दन, खुश्बू पुत्री पतालू, साधना पुत्री लक्ष्मी, निशा पुत्री सम्पत, बेबी पुत्री चिगनू, ऊषा पुत्री महेन्द्र उम्र, संगीत पुत्री भाईलाल, संतोषी पुत्री सप्तमी, रेखा पुत्री पप्पू शमिल है। सभी रामगयाघाट शिवपुर थाना विन्ध्याचल के निवासी है।

Gyan Dairy

 

Share