सपा-बसपा शासन में मिलती थी बड़ी भूमिका, योगी राज में नहीं मिली तवज्जो!

अम्बेडकर नगर : भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत से हुई जीत के बाद सर्वसम्मति से भाजपा विधायक दल का नेता योगी आदित्यनाथ को चुना गया। रविवार को मुख्यमंत्री के साथ 49 अन्य मंत्रियों को शपथ दिला दी गई और नई सरकार ने तत्काल कार्य भी शुरू कर दिया। लेकिन कई जिलों से मंत्रिमंडल में किसी को भी शामिल न किये जाने से उन जिलों में मायूसी छाई हुई है।इन्ही में से एक जिला अम्बेडकर नगर भी है। 1995 में फैजाबाद से अलग करके अम्बेडकर नगर जिला बनाया गया था। उसके बाद चाहे समाजवादी पार्टी की सरकार रही हो या बहुजन समाज पार्टी की सरकार इस जिले को बड़ी जिम्मेदारी मिलती रही है।

सपा-बसपा सरकार में बने मंत्री

जिले के गठन के बाद जब भी इन दोनों पार्टियों में से किसी की भी सरकार बनी तो इस जिले से एक नहीं कई चेहरों को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया। बसपा के शासन में राम अचल राजभर, लालजी वर्मा, राम प्रसाद निषाद जैसे नेताओं को मंत्री पद मिला। वहीं समाजवादी पार्टी की सरकार बनने के बाद इस जिले से राम मूर्ति वर्मा, शंखलाल मांझी और अहमद हसन जैसे चेहरों को मंत्रिमंडल में शामिल किया जाता रहा है। लेकिन भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद इस बार इस जिले से किसी को भी मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया, जिसको लेकर लोगों में काफी हैरानी है।

मंत्री बनाए जाने की थी संभावना

पिछली समाजवादी पार्टी की सरकार में जिले की पंचों विधानसभा सीट पर सपा का कब्जा था और उस सरकार में राम मूर्ति वर्मा और शंखलाल मांझी को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया था।इसी जिले के जलालपुर विधानसभा क्षेत्र के रहने वाले अहमद हसन को भी विधानमंडल की सदस्यता देकर सरकार में महत्वपूर्ण विभाग स्वास्थ एवं परिवार कल्याण मंत्रालय सौंपा गया था।सपा से पहले बसपा शासन काल में भी राम अचल राजभर को परिवहन और लालजी वर्मा को चिकित्सा शिक्षा के साथ संसदीय कार्य मंत्री बनाया गया था।

Gyan Dairy

कोई नहीं बना मंत्री

इस बार विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी सभी पांचों सीटें हार गई और बसपा को जलालपुर अकबरपुर और कटेहरी की सीट पर जीत मिली है। जबकि टांडा से संजू देवी और आलापुर सुरक्षित से अनीता कमल की जीत हुई है।प्रदेश में इतनी प्रचंड जीत के साथ ही इस जिले में भाजपा का प्रदर्शन भी काफी अच्छा होने के बाद से ही जनपद वासियों को इस जिले से भी किसी न किसी को मंत्री बनाए जाने की उम्मीद थी, लेकिन मंत्रिमंडल में जिले से किसी को शामिल न किये जाने से लोगों को काफी निराश किया है।माना यह जा रहा था कि टांडा जैसे अति संवेदनशील क्षेत्र से भाजपा जहां आज तक कभी जीत तो दूर दूसरे नंबर भी नहीं पहुंच सकी थी, वहां से संजू देवी ने कड़ी टक्कर देकर सपा के अजीमुलहक पहलवान को हराया है। उन्हें शायद मंत्री मंडल में शामिल किया जाए, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।

Share