राम की आकृतियों से सजाई जा रही अयोध्या, PM देखेंगे त्रेता युग की झलक

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए कई दशकों तक राम भक्तों ने संघर्ष किया है, आखिरकार वो घड़ी आ गयी है जब राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूूजन का आयोजन होने जा रहा है। जी हां आने वाले 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन करने अयोध्या आएंगे और चांदी की ईंट से मंदिर की आधारशिला रखेंगे। इस दौरान उन्हें हर तरफ त्रेता युग के जैसी तस्वीर देखने को मिलेगी। प्रधानमंत्री मोदी के आने से पहले ही अयोध्या को नई-नवेली दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है। हर तरफ बहुरंगी छटा बिखेरे जाने की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं।

5 अगस्त को पीएम के आयोजन के मद्देनजर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रखी गयी है। अयोध्या आगमन पर प्रधानमंत्री मोदी के हेलीकाप्टर साकेत महाविद्यालय में बनाए जा रहे हेलीपैड पर उतरेंगे। यहां से प्रधानमंत्री सड़क मार्ग से रामजन्मभूमि के लिए रवाना होंगे। रामजन्मभूमि में उन्हें भूमि-पूजन करना है। यहां से हनुमानगढ़ी दर्शन करने भी जाएंगे। साकेत कॉलेज से रामजन्मभूमि और हनुमानगढ़ी जाने वाले मार्ग के दोनों तरफ सभी भवनों की दीवारों पर त्रेता युग की झलक दिखलाते हुए रामायण कालीन प्रसंगों की आकृतियों को उकेरा जा रहा है। कहीं भगवान राम, सीता, लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्नन, हनुमान जी और ऐसे ही त्रेता युग से जुड़ी तस्वीरों को आकृति प्रदान की जा रही है। इसके लिए कलाकारों की फौज जुटी हुई है।

पूरी अयोध्या का राम की आकृतियों से सजाया जा रहा है। अयोध्या के प्रमुख मार्ग जिससे प्रधानमंत्री का काफिला गुजरेगा उसके दोनों तरफ स्थित भवनों को भी पीले रंग से रंगा जा रहा है। रामजन्मभूमि और हनुमानगढ़ी की ओर जाने वाले मार्ग पर सभी भवन एक जैसे दिखने लगे हैं जो वहां की शोभा बढ़ा रहे हैं। यही नही मार्ग के डिवाइडर की भी रंगाई-पुताई चल रही है। डिवाइडर पर स्थित बिजली के खंभों को भी पीले रंग से रंगा जा रहा है। प्रधानमंत्री के गुजरने वाले मार्ग के दोनों तरफ युद्ध स्तर पर सफाई अभियान चल रहा है। सूखे पेड़ हटाए जा रहे हैं, झाड़ी-झंखाड़ के साथ उगी हुई बड़ी घास हटाई जा रही है।

Gyan Dairy

वहीं दूसरी तरफ रामजन्मभूमि परिसर में भी मुख्य समारोह के लिए तैयारियां अपने अंतिम चरण पर पहुंच चुकी हैं। राम मंदिर भूमि पूजन स्थल पर अतिथियों के बैठने के साथ प्रधानमंत्री की मौजूदगी वाले स्थान पर सभी इंतजाम किए जा रहे हैं। राम की पैड़ी को भी संवारा जा रहा है। सरयू तट पर अलग ही रौनक देखने को मिलेगी। इसके लिए यहां भी अभियान के तौर पर साफ-सफाई का काम चल रहा है।

Share