उमा भारती ने कहा की जो था खुल्लम खुल्ला था, राममंदिर बनकर रहेगा, आज ही मैं अयोध्या जा रही हूं

बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में साजिश के केस में फंसने के बाद बीजेपी की फायरब्रांड नेता और केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने साफ कहा कि वो इस्तीफा नहीं देंगी. उनका कहना है कि अयोध्या में कुछ भी साजिश नहीं थी, बल्कि जो कुछ हुआ वो खुल्लम खुल्ला था.

बाबरी मस्जिद के ढांचे को गिराने को लेकर साजिश के सवाल पर उमा भारती के कहा, कोई साजिश नहीं थी, सब खुल्लम-खुल्ला था. मन में ऐसा कुछ नहीं था.

इसके साथ ही उमा भारती ने ये भी कहा कि अयोध्या में राम मंदिर बनकर रहेगा और वो आज शाम ही अयोध्या जाएंगी. उमा भारत ने ये भी कहा कि वो अयोध्या के लिए जान भी देने को तैयार हैं.

किसी भी साजिश से इनकार के साथ ही विपक्षी पार्टी की बोलती बंद करने की रणनीति के तहत उमा भारती ने कहा कि क्या 1984 के दंगों के लिए सोनिया गांधी ने साजिश रची थी?

राम मंदिर को लेकर अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हुए मोदी की मंत्री उमा ने कहा, मैं आज रात को अयोध्या जा रही हूं. रामलला, राम जी को अपना गर्व और संतोष व्यक्त करूंगी कि इतना सम्मान दिया.

Gyan Dairy

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने आज उमा भारती सहित बीजेपी और वीएचपी के कई बड़े नेताओं को बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में साजिश का केस चलाने का आदेश दिया है.

उमा भारती ने कहा कि अयोध्या के लिए, गंगा के लिए और तिरंगे के लिए वो कोई भी सजा भूगतने को तैयार हैं.

ग़ौरतलब है कि 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद को हिंदू कारसेवकों ने तोड़ दी थी. इसको लेकर दो एफआईआर दर्ज हैं, जिसमें एक में उमा भारती और बीजेपी और वीएचपी के 21 बड़े नेता शामिल हैं. आज उनमें से कई की मौत हो चुकी है.

Share