बच्चा निगल गया मोतियों की माला, डाॅक्टरों ने मशक्कत के बाद बचाई जान

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक डेढ़ साल के मासूम बच्चे ने एक माला के 65 मोतियों को निगल लिया। मोतियां निगलने के बाद बच्चे को उल्टियां होने लगीं। परिजन डाॅक्टर के पास पहुंचे तो जांच कराई गई। जांच में पता चला कि मोती बच्चे की आंत में चिपके हुए हैं। डाॅक्टरों ने जटिल आॅपरेशन करके बच्चे की जान बचाई।

जानकारी के मुताबिक एक डेढ़ साल के मासूम को चार दिन पहले अचानक उल्टियां शुरू हो गईं। उल्टियां होने पर बच्चा लगातार रोने लगा। परिवारीजन कुछ समझ नहीं पाये और सीधे डाॅक्टर के पास पहुंचे। गोमतीनगर में प्राईवेट प्रैक्टिस करने वाले चिकित्सक डाॅ सुनील कनौजिया ने एक्सरे जांच कराई तो बच्चे के पेट में मोतियों की माला नजर आई। परिवारीजनों ने घर में मोतियों की माला न होने की बात बताई। हालांकि जांच पर भरोसा करते हुए डॉक्टरों ने ऑपरेशन करने का निर्णय किया।

डॉ सुनील कनौजिया के मुताबिक पेट में चीरा लगाया गया तो शल्य उपकरण पेट में चिपकने लगे। इसके बाद चुंबक के मोतियों की जानकारी हुई। डॉक्टरों ने आॅपरेशन करके लोहे के उपकरणों से आंतों में छिपे मोतियों की खोज शुरू की। हालांकि आंतों में चुंबक के मोती आपस में चिपक गए और आंतों की चाल गड़बड़ा गई।

Gyan Dairy

डॉ सुनील कनौजिया ने बताया कि मोती बच्चे की छोटी और बड़ी आंत तक पहुंच गए थे। इससे छोटी आंत में पांच सुराख हो गए थे। साथ ही पेट के पिछले हिस्से में एक सुराख हो गया था। हालांकि करीब पांच घंटे तक चले जटिल ऑपरेशन के बाद सभी चुंबक के मोतियों को निकालने में कामयाबी मिली। आॅपरेशन के बाद बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ है।

Share