बरेली हत्याकांड: सरकारी नौकरी देख उम्र में 12 साल बड़े प्रवक्ता से की थी शादी, नफरत ऐसी कि लाश के साथ किया घिनौना काम

बरेली। यूपी के बरेली में सुपारी लेकर कॉलेज प्रवक्ता अवधेश की हत्या करने वाले हिस्ट्रीशीटर चीकू ने पुलिस की पूछताछ में सनसनीखेज खुलासा किया है। चीकू ने पुलिस को बताया कि मृतक अवधेश की पत्नी विनीता अपने पति से बेइंतहा नफरत करती थी। विनीता ने अवधेश की हत्या कराने के बाद उसकी लाश को लातों से कई ठोकरें मारी थी।

जानकारी के मुताबिक उम्र के बड़े अंतर ने सरल स्वभाव अवधेश के वैवाहिक जीवन में जहर घोल दिया था। अभी अवधेश 43 साल के थे, वहीं विनीता उर्फ बिंदु 31 साल की ही थी। ब्यूटी पार्लर चलाने वाली विनीता खुली जिंदगी जीने की शौकीन थी। हालांकि सरकारी नौकरी के चक्कर में 12 साल पहले विनीता ने अवधेश से शादी कर ली थी।

हत्यारोपी शेर सिंह उर्फ चीकू से पुलिस ने फरिहा के पायल ज्वैलर्स की दुकान से चोरी किए जेवर बरामद किए हैं। उसने चार और पांच दिसंबर 2019 को चोरी की थी। चीकू थाना नारखी का हिस्ट्रीशीटर है। उसके खिलाफ हत्या, लूट और चोरी सहित गैंगस्टर, गुंडा एक्ट सहित करीब 14 मामले दर्ज हैं।

कुंवर ढाकन लाल इंटर कॉलेज सहोड़ा के हिंदी प्रवक्ता अवधेश कुमार की हत्या की जानकारी पर सोमवार को कालेज में शोक सभा की गई। प्रबंधक महीपाल सिंह ने कहा कि अवधेश बहुत सौम्य प्रवक्ता थे। प्रधानाचार्य प्रवीण कुमार ने बताया कि हत्या की सूचना से पूरा कालेज स्टाफ स्तब्ध है।

Gyan Dairy

हिंदी प्रवक्ता अवधेश की हत्या के मामले में पत्नी की साजिश से पड़ोसी हैरत में हैं। घर में ताला पड़ा हुआ है। पड़ोसी इस परिवार के बारे में बात करने से कतरा रहे हैं।  कर्मचारी नगर में पुलिस चौकी के पास निर्मल रेजीडेंसी में कुछ साल पहले ही अवधेश कुमार ने मकान बनवाया था। पत्नी विनीता घर के बाहरी हिस्से में ब्यूटी पार्लर भी चलाती थी। अवधेश का रोज घर से ही अपने कॉलेज आना-जाना होता था। अब करीब दस दिन से घर में ताला पड़ा है। विनीता पहले से ही गायब है।

पत्नी और ससुर ने दी सुपारी
अवधेश की हत्या की सुपारी खेरिया निवासी अवधेश के ससुर अनिल फौजी, मृतक की पत्नी विनीता ने पांच लाख रुपये में दी थी। 70 हजार रुपये एडवांस दिए थे। पूछताछ में हत्यारोपी ने बताया 12 अक्तूबर को अवधेश की हत्या बरेली में अपने साले खेरिया निवासी प्रदीप पुत्र अनिल फौजी, नारखी धौंकल निवासी भोला पुत्र अशोक गुप्ता, एटा थाना सकरौली के छोटी रानी निवासी पप्पू जाटव एवं अंकित के साथ मिलकर गला दबाकर की थी। हत्या के बाद शव को बरेली से कार से लाकर नारखी क्षेत्र में जलाने के बाद रामदास के खेत में दबा दिया था।

Share