बरेली: साक्षी मिश्रा के पति अजितेश ने काटा हंगामा, पुलिस ने हवालात में डाला

नई दिल्ली। प्रेम विवाह करने के बाद देश भर में चर्चा में रही बरेली के विधायक राजेश कुमार मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल की बेटी साक्षी मिश्रा के पति अजितेश ने शुक्रवार देर रात राजेंद्रनगर इलाके में जमकर गुंडागर्दी की। उन्होंने कार को ओवरटेक करने पर बाइक सवार को पीटने के बाद उसका मोबाइल छीन लिया। पुलिस प्रेमनगर थाने ले आई तो वहां भी दोनों ने हंगामा किया। देर रात पीड़ित ने उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी। पुलिस ने उनकी कार भी कब्जे में ले ली है।

पुलिस के मुताबिक जनकपुरी में रहने वाले दीपांश माहेश्वरी के मुताबिक वह अपने दोस्त के पिता की दवा लेने वीर सावरकर नगर गए थे। वहां से रात सवा दस बजे बाइक से लौट रहे थे। सेलेक्शन प्वाइंट चौराहे के पास उन्होंने उत्तराखंड नंबर की एक एसयूवी को ओवरटेक किया। इसके बाद एसयूवी ने उनका पीछा शुरू कर दिया। मजार के पास उनकी बाइक को साइड मारकर गिरा दिया। इसके बाद कार से उतरे दो लोगों ने उन्हें पीटना शुरू कर दिया।

पिटाई करने के बाद आरोपी कार में बैठकर भागने लगे तो दिव्यांश ने मोबाइल से उनकी वीडियो बनानी शुरू कर दी। इससे दोनों और भड़क गए। दोबारा उन्हें जमकर पीटा और मोबाइल छीन लिया। उनकी चीखपुकार पर पुलिस पहुंच गई। पुलिस से भी हमलावर भिड़ने लगे। तब पुलिस उन्हें कार समेत प्रेमनगर थाने ले गई। वहां भी दोनों ने हंगामा किया। बाद में पता चला कि हमलावरों में एक सपा नेता वैभव गंगवार और दूसरा अजितेश है। देर रात दीपांश की ओर से दोनों के खिलाफ तहरीर दी गई। इंस्पेक्टर प्रेमनगर बलवीर सिंह ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट लिखी जा रही है।

पीड़ित दीपांश के मुताबिक, अजितेश और वैभव दोनों ही नशे में थे। दोनों को पहले पुलिस ने मुंशी के पास रिकॉर्ड रूम में बैठा दिया। यहां अजितेश ने आरोप लगाया कि उसे नंगे पैर घसीटकर लाया गया है। यह सब एक नेता के इशारे पर हो रहा है। पुलिस के समझाने पर भी अजितेश शांत नहीं हुआ। उसने रिकॉर्ड रूम से बाहर आकर हंगामा शुरू कर दिया। तब तक इंस्पेक्टर भी थाने पहुंच गए। तब उन्होंने अजितेश को हवालात में डलवा दिया।

Gyan Dairy

दीपांश माहेश्वरी के साथ हुई घटना मौके पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। थाने में लगे सीसीटीवी कैमरे में भी अजितेश का हंगामा रिकॉर्ड हो गया है, जो उसके गले की फांस बन सकता है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, अजितेश के साथ कार में दो गनर भी थे। वे उसे बाइक सवार से मारपीट करने से रोकते भी रहे, लेकिन वह नहीं माना। बाद में गनर मौके से चले गए।

अजितेश के साथ पकड़ा गया वैभव समाजवादी युवजन सभा का जिलाध्यक्ष रहा है। इकाई भंग होने के बाद भी वह सपा में सक्रिय है। पार्टी के नेताओं ने इसकी पुष्टि की पर मौजूदा घटना की जानकारी होने से इंकार किया। बताया कि अक्सर उसे अजितेश के साथ देखा जाता है। पीड़ित की तहरीर के मुताबिक रिपोर्ट लिखकर विवेचना की जाएगी। आरोपियों के साथ कोई रियायत नहीं होगी और न ही पुलिस किसी दबाव में काम करेगी।

Share