बिकरू कांड: चौबेपुर थाने में तैनात रहे 60 पुलिसकर्मियों की जांच करेगी SIT, विकास से दोस्ती का है शक

कानपुर। कानपुर के चौबेपुर थानान्तर्गत बिकरू गांव में सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के विकास दुबे को यूपी एसटीएफ ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया था। इस वारदात के बाद चौबेपुर थाने में तैनात रहे सभी दरोगा, हेड कांस्टेबल और सिपाहियों सहित 60 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया था। उस समय चौबेपुर थाने में तैनात सभी पुलिसकर्मियों की भूमिका की जांच अब एसआईटी करेगी।

विकास दुबे को शह देने पर पूर्व एसएसपी दिनेश कुमार पी ने पूरे चौबेपुर थाने को लाइन हाजिर कर दिया था। उसके बाद इन सभी पुलिस कर्मियों की जांच एसपी ग्रामीण को सौंपी गई थी। मगर अब इस पूरे मामले की जांच एसआईटी करेगी। मामले में गठित एसआईटी को सोमवार को पुलिस कर्मियों की जांच से जुड़े सभी दस्तावेज पहुंचा दिए गए हैं। अब पुलिस कर्मी लखनऊ जाकर एसआईटी के सामने बयान देंगे।

Gyan Dairy

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की तलाश में छापा मारने गए बिल्हौर सीओ देवेंद्र मिश्र और शिवराजपुर एसओ महेश यादव समेत 8 पुलिसवालों को विकास और उसके गुर्गों ने मौत के घाट उतार दिया था। इस दौरान विनय पर गांव की बिजली कटवाने और मुठभेड़ के दौरान पीछे रहने की बात सामने आई। दरोगा कुंवर पाल सिंह, केके शर्मा और सिपाही राजीव को भी डरने और लापरवाही बरतने पर सस्पेंड किया जा चुका है। एसओ और इंस्पेक्टर दोनों गिरफ्तार भी हो चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share