यूपी : बीजेपी का असर , अफसरों पर सख्ती के आदेश, टाइम से ऑफिस आएं वरना…

पीएम नरेंद्र मोदी ने चुनावी अभियान में साफ किया था कि कैबिनेट की पहली मीटिंग में ही किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा और साथ ही दो हफ्तों के भीतर गन्ना किसानों को बकाया दे दिया जाएगा.

गौरतलब है कि यूपी विधानसभा चुनाव 2017 में बीजेपी की सत्ता में वापसी लंबे समय के बाद हुई है.यहां तीन चौथाई बहुमत के साथ बीजेपी ने 15 साल बाद सत्ता में वापसी की.उसे 312 सीटें मिलीं. 37 साल बाद ऐसा हुआ है जब इस राज्य में किसी पार्टी को 300+ सीटें मिली हैं.

यूपी में 19 मार्च को नई सरकार का गठन हो रहा है. इसे लेकर सरकारी महकमे में भी खलबली का मौहाल है. इसी खलबली के बीच चीफ सेक्रेट्री राहुल भटनागर ने सभी सरकारी विभागों के प्रमुख सचिवों और सभी विभागों के प्रमुखों को चिट्ठी लिखी है कि नई सरकार की नीतियों का अनुपालन ठीक से करना है. 20 मार्च से हर कोई टाइम से आएं और अपनी जिम्मेदारियों का सही तरह से निर्वहन करें. सभी अफसर अपने विभागों के लोगों को यह जानकारी दे दें. इसमें किसी तरह की ढील होने पर एक्शन लिया जाएगा.

बीजेपी के विधायक दल की बैठक लोक भवन में होगी. केंद्रीय पर्यवेक्षक के रूप में केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव मुख्यमंत्री निर्वाचित करने के लिए बैठक में मौजूद होंगे. और फिर रविवार शाम 5 बजे उत्तर प्रदेश को मिलेगा उसका नया मुख्यमंत्री और नई सरकार. राज्यपाल राम नाइक ने लखनऊ में बयान जारी कर कहा है कि यूपी के नए मुख्यमंत्री अपनी कैबिनेट के सहयोगियों के साथ 19 मार्च को शाम 5 बजे कांशीराम स्मृति उपवन में शपथ लेंगे. मीडिया में कई नाम चर्चा में हैं, लेकिन औपचारिक ऐलान लखनऊ में शनिवार शाम विधायक दल की बैठक में ही होगा.

Gyan Dairy

 

 

Share