स्वास्थ्य​ विभाग की धांधली पर बीजेपी विधायक ने उठाया सख्त कदम, वापस मांगे 25 लाख

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बढ़ते संकट को लेकर देश के सभी राज्यों में सांसदो व विधायकों ने अपनी निधि से पीएम व सीएम फंड में पैसे दिए थे। वहीं यूपी में भी सभी विधायकों ने क्षेत्र के लिए अपनी निधि से सीएम फंड में कोरोना से निपटने के लिए रकम दी थी, लेकिन उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के गोपामऊ से बीजेपी विधायक श्याम प्रकाश ने अपनी विधायक निधि से दिए 25 लाख रुपये वापस मांग लिए हें। इस संबंध में विधायक ने एक पत्र हरदोई जिला प्रशासन को लिखा है।

कोरोना वायरस के संकट से निपटने के लिए उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले की गोपामऊ से बीजेपी विधायक श्याम प्रकाश ने अपनी विधायक निधि से कोरोना फंड में 25 लाख रुपये दिए थे। अब वह इन पैसों को वापस मांग रहे हैं। इस संबंध में विधायक ने हरदोई जिला प्रशासन को एक पत्र लिखा है और कहा कि उनके दिए गए पैसों का सही इस्तेमाल नहीं हो रहा है, जिसके चलते उनकी विधायक निधि का पैसा वापस किया जाए।

विधायक श्याम प्रकाश ने आरोप लगाया कि बार-बार कहने पर भी प्रशासन द्वारा पैसों का कोई हिसाब भी नहीं दिया जा रहा। ऐसे में विधायक ने कहा कि उनके द्वारा पूर्व में निर्गत की विधायक निधि की राशि को तत्काल वापस उनकी निधि के खाते में भेजा जाए ताकि इसका इस्तेमाल जनहित के अन्य कार्यों में किया जा सके।

Gyan Dairy

बता दें कि हरदोई जिले में सबसे पहले गोपामऊ से बीजेपी विधायक श्याम प्रकाश ने कोरोना संकट के लिए अपनी विकास निधि से 25 लाख रुपये देने की घोषणा की थी। उन्होंने अपने निधि का प्रयोग विधानसभा क्षेत्र की जनता को कोरोना से बचाव के लिए इंतजामों पर खर्च करने की बात कही थी। लेकिन बाद में विधायक ने निधि से दिए गए 25 लाख रुपये से कोरोना से निपटने के लिए विभिन्न उपकरण व सामग्री खरीदने के संबंध में संशोधित पत्र भेजा था।

हालांकि, विधायक श्याम प्रकाश के द्वारा मांगी जा रही अपनी विधायक निधि की राशि को लेकर जिला प्रशासन असमंजस में है। माना जा रहा है कि विधायक निधि से 25 लाख रुपये अवमुक्त करने संबंधी पत्र पर इसका 60 फीसदी धन पहली किस्त के रूप में स्वास्थ्य विभाग को दिया जा चुका है, जिसकी वजह से अब प्रशासन कश्मकश में है।

Share