UA-128663252-1

भाई ने क्रशर कारोबारी इंद्रजीत को दी मुखाग्नि, पुलिस ने पार्टनर को उठाया, हंगामा

महोबा। महोबा के क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी का रविवार की रात में ही कानपुर में पोस्टमार्टम हो गया। इसके बाद उनका शव सुबह छह बजे कबरई लाया गया। यहां बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ शव उनके घर लाया गया। शव पहुंचते घर में हाहाकार मच गया। कड़ी सुरक्षा के बीच उनका अंतिम संस्कार कस्बा के पास स्थित मैदान में किया गया। सुबह करीब साढ़े दस बजे दिवंगत इंद्रकांत त्रिपाठी के भाई ने शव को मुखाग्नि दी।

एहतियातन जिलाधिकारी अवधेश कुमार तिवारी व पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार श्रीवास्तव भी मौजूद रहे। जिलाधिकारी अवधेश कुमार तिवारी ने बताया कि मौत के बाद ही यह मामला हत्या में तरमीम हो गया है। उन्होंने दिवंगत व्यापारी के परिजनों को न्याय का भरोसा दिया है। वहीं दूसरी ओर दिवंगत इंद्रकांत के अंतिम संस्कार के तुरंत बाद पुलिस एक्शन में आ गई है। पुलिस ने अंतिम संस्कार स्थल से ही पार्टनर व उनके एक दोस्त को उठा लिया। परिजनों की इसको लेकर एएसपी वीरेंद्र कुमार से तीखी नोकझोंक भी हुई। पुलिस की इस कार्रवाई से नाराज हजारों की संख्या में लोग थाने पहुंच गए, जहां इंद्रकांत के पार्टनर व दोस्त से आइजी जोन प्रेमप्रकाश पूछताछ कर रहे हैं। उधर व्यापारी के परिजन पहले से ही पुलिस पर आरोप लगा रहे थे कि अपनों को बचाने के लिए वह कुछ भी कर सकती है।

क्रशर कारोबारी इंद्रकात त्रिपाठी का कानपुर में रात ही पोस्टमार्टम किया गया। हालांकि इस दौरान पैनल पोस्टमार्टम व वीडियोग्राफी की मांग को लेकर स्वजनों ने हंगामा भी किया। बता दें कि क्रशर कारोबारी की रविवार सुबह से ही हालत बिगडऩे लगी थी। डॉक्टरों ने उन्हें बचाने का भरसक प्रयास किया, लेकिन शाम करीब छह बजे डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। कानपुर डीएम आलोक तिवारी ने रात में ही पोस्टमार्टम कराए जाने का आदेश दिया। रात साढ़े दस बजे बजे शव पोस्टमार्टम हाउस पहुंचा तो परिजनों ने पैनल पोस्टमार्टम व वीडियोग्राफी की मांग को लेकर हंगामा शुरू कर दिया। यह देखते हुए तत्काल पैनल पोस्टमार्टम व वीडियोग्राफी के आदेश दिए गए।

Gyan Dairy

मृतक इंद्रकांत के बड़े भाई विजय कुमार त्रिपाठी ने पोस्टमार्टम हाउस पर मीडिया से बात करते हुए भाई की हत्या में नामजद पूर्व एसपी मणिलाल पाटीदार, एसओ कबरई देवेंद्र शुक्ला, विस्फोटक डीलर सुरेश सोनी व ब्रह्मदत्त की गिरफ्तारी की मांग की। उन्होंने कहा कि जब तक यह लोग बाहर हैं निष्पक्ष जांच संभव नहीं है। कहा कि उनका भाई भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया। एसपी के चलते अब खुद उनका परिवार आर्थिक रूप से कमजोर हो चुका है।

Share