गैंगरेप केस में सीबीआई ने किया चाराें आरोपियों का ब्रेन मैपिंग और पॉलीग्राफ टेस्ट ,जानें अहम बातें

हाथरस। उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए गैंगरेप कांड में सीबीआई की टीम जांच कर रही है। इसी प्रक्रिया के अंतर्गत अलीगढ़ की जेल में बंद चारों आरोपियों के नार्को टेस्ट कराने की प्रक्रिया पूरी होने के बाद चारों आरोपियों को गुजरात से लाकर दोबारा अलीगढ़ जेल में बंद कर दिया गया है। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आरोपियों को गुजरात के गांधीनगर से अलीगढ़ लाने के बाद चारों का ब्रेन मैपिंग और पॉलीग्राफ टेस्ट कराया गया है।

हाथरस कांड में सीबीआई मामले की विभिन्न पहलुओं पर जांच पड़ताल की जा रही है। बूलगढ़ी गांव से लेकर जेएन मेडिकल कॉलेज, जिला जेल समेत विभिन्न जगह पहुंचकर सीबीआई मामले की जांच कर रही है। घटना की तह तक पहुंचने के लिए पीड़ित व आरोपी परिवार का नार्को टेस्ट कराने की तैयारी की टीम की ओर से की गई थी। लेकिन पीड़ित परिवार ने नार्को टेस्ट कराने से इंकार कर दिया था। वहीं पुलिस ने अलीगढ जेल में बंद चारों आरोपियों का नार्को टेस्ट कराने का निर्णय लिया था।

Gyan Dairy

बिना  देरी किये 22 नवंबर को चारों आरोपियों को सीबीआई कोर्ट के आदेश पर जिला जेल से निकालकर गांधीनगर गुजराज ले जाया गया था। वहां चारों आरोपियों का ब्रेन मैपिंग व पॉलीग्राफ टेस्ट की प्रक्रिया पूरी हुई। यह प्रक्रिया करीब 10 से 12 दिनों तक चली। चारों को रविवार को करीब 15 दिनों बाद पुन: अलीगढ़ जेल में बंद कर दिया गया है। वहां उनको सीबीआई कोर्ट के आदेश पर ब्रेन मैपिंग व पॉलीगाफ टेस्ट कराये जाने के बाद पुन: रविवार को चारों आरोपियों को अलीगढ़ जेल में भेज दिया गया है।

Share