यूपी : मोह माया में फंसे सीएम योगी, अब अयोध्या से नहीं गोरखपुर से लड़ेंगे चुनाव

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अब गोरखपुर से ही विधानसभा का चुनाव लड़ने का मन बनाया है. हालांकि बीजेपी के कुछ नेता चाहते हैं कि वे अयोध्या से किस्मत आजमाएं, लेकिन योगी गोरखपुर से अपना रिश्ता छोड़ना नहीं चाहते हैं. आपको बता दें कि मुख्यमंत्री बने रहने के लिए योगी आदित्यनाथ को सितंबर महीने तक एमएलए या एमएलसी बनना पड़ेगा.

बताया जाता है कि सीएम योगी के अयोध्या से चुनाव लड़ने कि चर्चा सामने आने के बाद इस सीट से चुनाव जीते बीजेपी विधायक वेद गुप्ता ने तो  अपनी सीट छोड़ने का भी एलान कर दिया था. लेकिन योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से अपना रिश्ता छोड़ना नहीं चाहते हैं. वे यहां से लगातार पांचवीं बार लोक सभा के सांसद चुने गए है. आपको बता दें कि मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ को सांसद के पद से इस्तीफा देना होगा और ऐसे हालात में गोरखपुर में एक साथ लोक सभा और विधानसभा की एक सीट पर चुनाव होंगे. योगी आदित्यनाथ ने अब तक लोक सभा की सीट नहीं छोड़ी है. राष्ट्रपति चुनाव के बाद सीएम योगी और उप मुख्यमंत्री केशव मौर्या दोनों सांसद के पद से इस्तीफा दे देंगे. योगी के मुख्यमंत्री बनते ही दर्जन भर विधायकों ने उनके लिए अपनी सीट छोड़ने का एलान किया था.

Gyan Dairy

सूत्रों के मुताबिक सीएम योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से ही विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे. वे किस सीट से चुनावी मैदान में उतरेंगे. योगी यह भी तय कर चुके है. वैसे अब तक उनके अयोध्या से चुनाव लड़ने की चर्चा थी. संघ और बीजेपी के नेताओं का एक गुट भी यही चाहता है.पिछले ही महीने योगी आदित्यनाथ अयोध्या गए थे और वहां रामलला के दर्शन किये. सरयू नदी पर आरती की और जाते-जाते अयोध्या के लिए 350 करोड़ के पैकेज का भी एलान कर दिया. इसके बाद से उनके अयोध्या से ही चुनाव लड़ने की चर्चा और तेज हो गयी.

Share