सिर में लगी गोली को गिट्टी बताकर कंपाउंडर ने बांधी पट्टी, युवक गंभीर

वाराणसी। यूपी के वाराणसी में आज सुबह हैरतअंगेज करने वाला एक मामला सामने आया। यदि किसी व्यक्ति के सिर में गोली लगी हो और अस्पताल का कंपाउंडर यह कहकर मरहम पट्टी कर दे कि सिर में गिट्टी धंसी है। यह सुनने और पढ़ने में कितना अजीब लगेगा। ऐसा ही एक मामला रामनगर में सामने आया है। रामनगर में चंदौली के चकिया निवासी संतोष यादव को 27 दिसंबर की रात कुछ लोगों ने सिर में गोली मारकर साहूपुरी इलाके में फेक दिया था। कुछ ग्रामीणों ने उसे देखा और अलीनगर पुलिस को फोन किया। पुलिस ने घायल संतोष को अलीनगर के राजकीय महिला अस्पताल पहुंचाया। वहां उस समय सिर्फ कंपाउंडर था। घायल को देखकर उसने बताया कि सिर में गिट्टी धंस गई है और दवा लगाने के बाद पट्टी बांध दी।

इस बीच संतोष की हालत खराब होने लगी तो उसे बीएचयू के ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया। वहां सीटी स्कैन होने पर पता चला कि सिर में गोली धंसी है। यह सुनते ही परिवार के लोग सन्न रह गए। इस घटना को लेकर संतोष की पत्नी गीता यादव ने इसके बाद रामनगर थाने में अपनी शिकायत दर्ज कराने की मांग की है। गीता के अनुसार, संतोष मौजूदा समय में साहित्यनाका में रहता है। उसने जमालपुर में बच्चों को पढ़ाने के लिए कोचिंग खोली है। 27 दिसम्बर की रात आठ बजे कोचिंग बंद कर घर लौट रहा था, तभी चारपहिया वाहन सवारों ने उसे उठा लिया। इसके बाद यह घटना हुई।

उधर संतोष का ट्रॉमा सेंटर में 12 जनवरी तक इलाज चला और फिर उसे डिस्चार्ज कर दिया गया। संतोष का कहना है कि उसे जमीन के विवाद के चलते गोली मारी गई। साथ ही संतोष की पत्नी गीता ने यह भी बताया कि, न्याय के लिए उसे तीन-तीन थानों का चक्कर लगाना पड़ रहा है। बीएचयू ट्रामा सेंटर में भर्ती होने के दौरान गीता ने लंका थाने पर तहरीर दी। लंका पुलिस ने घटनास्थल अलीनगर थाना बताया। जब अलीनगर थाने गई तो वहां की पुलिस ने रामनगर का मामला बता दिया। अब रामनगर पुलिस इस घटना से इनकार कर रही है।

Gyan Dairy

 

Share