क्रशर व्यवसायी हत्याकांड: हाईकोर्ट ने महोबा के निलंबित SP मणिलाल पाटीदार की याचिका खारिज की

प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने महोबा के निलंबित पुलिस अधीक्षक मणिलाल पाटीदार की याचिका खारिज कर दी है। निलंबित आईपीएस अफसर मणिलाल पाटीदार ने महोबा के क्रसर व्यवसायी की हत्या के मामले में अपने विरुद्ध दर्ज एफआईआर को रद्द करने की मांग की थी। मुख्य न्यायमूर्ति गोविंद माथुर एवं न्यायमूर्ति सिद्धार्थ वर्मा की खंडपीठ ने पूरे मामले की सुनवाई के बाद ये फैसला किया।

निलंबित आईपीएस मणिलाल पाटीदार की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता गोपाल चतुर्वेदी एवं इमरान उल्लाह कोर्ट में पेश हुए। इस मामले में राज्य सरकार के अपर महाधिवक्ता मनीष गोयल व अपर शासकीय अधिवक्ता आशुतोष कुमार संड ने सरकार का पक्ष रखा। हाईकोर्ट ने निलंबित एसपी मणिलाल पाटीदार को मामले की विवेचना में सहयोग करने को कहा है।
ये था पूरा मामला
महोबा में विस्‍फोटक का कारोबार करने वाले इंद्रकांत ने एसपी मणिलाल पाटीदार के घूस मांगे जाने का वीडियो वायरल किया था। इस पर एसपी सहित कई पुलिसवालों को मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने सस्‍पेंड कर दिया था। उनके खिलाफ भ्रष्‍टाचार का मुकदमा भी दर्ज किया गया। इंद्रकांत त्रिपाठी को आठ सितम्‍बर को महोबा में गोली लगने के बाद कानपुर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां पांचवें दिन इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। इस मामले में महोबा के तत्कालीन एसपी मणिलाल पाटीदार सहित चार के खिलाफ हत्‍या के प्रयास का मुकदमा दर्ज हुआ था। व्‍यापारी की मौत के बाद यह हत्‍या के मुकदमे में बदल गया।

Gyan Dairy
Share