यूपी : मेरठ में साइकिल ट्रैक वायर का घोटाला आया सामने, 3 इंजीनियर हुए गिरफ्तार

मेरठ विकास प्राधिकरण एमडीए में करीब डेढ़ करोड़ के वायर घोटाले में शुक्रवार को कमीश्नर  डॉ. प्रभात कुमार ने अपने दफ्तर में बुलाकर तीन इंजीनियरों को गिरफ्तार करा दिया। तीनों इंजीनियरों पर मेरठ में बन रहे साइकिल ट्रैक में लगाने के लिए खरीदे गए बिजली के रबर कोटेड वायर में बड़ा गोलमाल करने का आरोप है।

मेरठ विकास प्राधिकरण एमडीए में करीब डेढ़ करोड़ के वायर घोटाले में शुक्रवार को कमीश्नर  डॉ. प्रभात कुमार ने अपने दफ्तर में बुलाकर तीन इंजीनियरों को गिरफ्तार करा दिया। तीनों इंजीनियरों पर मेरठ में बन रहे साइकिल ट्रैक में लगाने के लिए खरीदे गए बिजली के रबर कोटेड वायर में बड़ा गोलमाल करने का आरोप है।

Gyan Dairy

करीब दो साल पहले डीएम कंपाउंड और साइकिल ट्रैक के लिए बिजली का कोटेड वायर अंडरग्राउंड डालने के लिए खरीदा गया। करीब डेढ़ करोड़ का वायर खरीद के बावजूद यहां ट्रैक और सड़क बनाने में इस्तेमाल नहीं किया गया। सड़क बना दी गई और वायर स्टोर में ही पड़ा रहा। बाद में कार्यभार बदल गए तो नए इंजीनियर ने कहा कि सड़क बनने के बाद पूर्व में खरीदे गए वायर को इस्तेमाल किया जाना व्यवहारिक नहीं है। इसके लिए सड़क दोबारा उखाड़नी होगी। इसी बीच मंगल पांडेय नगर आवासीय समिति के सचिव देवेन्द्र प्रताप सिंह तोमर ने कमिश्नर डॉ. प्रभात कुमार से इस पूरे मामले की जांच कराने की मांग की।

Share