विकास दुबे का भाई दीप प्रकाश घर भेज रहा लेटर, तलाश में जुटी एसटीएफ

लखनऊ। कानपुर के चौबेपुर थानान्तर्गत बिकरू गांव में हुई आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का मुख्य आरोपी व हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे 10 जुलाई को एक एनकाउंटर में एसटीएफ के हाथों मारा गया। उसका भाई दीप प्रकाश उर्फ दीपू वारदात के बाद से ही फरार है। पुलिस का मानना है कि दीपप्रकाश आस-पास ही कहीं छिपा है। बीते तीन दिनों में उसने चार लेटर अपने घर भेजे हैं। लेटर में उसने लिखा है कि वह सकुशल है और जल्दी ही कोर्ट में हाजिर हो जायेगा। यह चिठ्ठी लखनऊ से पोस्ट की गई है। इसके बाद एसटीएफ की एक टीम रविवार को कृष्णानगर स्थित दीप प्रकाश के घर पहुंची और उसकी पत्नी से पूछताछ की।

बिकरू के आसपास के एक दर्जन गांव, कानपुर देहात, औरैया, मध्य प्रदेश के कुछ शहरों, झांसी, नोएडा, फरीदाबाद आदि शहरों में सर्च ऑपरेशन चलाया मगर पता नहीं लग सका है। दीपू घटना के बाद बिकरू से भागा था उस दौरान उसके पास दो मोबाइल नम्बर थे। पुलिस ने इन नम्बरों को सर्विलांस पर लिया है मगर दोनों स्विच ऑफ है और उनकी आखिरी लोकेशन शिवली में मिली थी। दीपू की तलाश में आधा दर्जन रिश्तेदारों के यहां छापेमारी की गई मगर पता नहीं चल सका। एसटीएफ को जानकारी मिली है कि दीपू दुबे कोर्ट में सरेंडर करने की फिराक में है। इसके लिए कुछ लोग उसकी मदद कर रहे हैं। उन लोगों ने मोबाइल नम्बर भी एसटीएफ के हाथ लगे हैं।

Gyan Dairy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share