कोरोना में जान गंवाने वाले शिक्षकों के आश्रित बनेंगे अध्यापक-लिपिक, योगी सरकार ने लगाई मुहर

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा विभाग ने शिक्षकों के मृतक आश्रितों को सहायक अध्यापक या फिर कनिष्ठ लिपिक के पद पर अनुकंपा नियुक्ति देने का ऐलान किया है। विभाग में अब तक अनुकंपा के आधार पर सिर्फ चतुर्थ श्रेणी के पद पर नियुक्ति का प्रावधान था। योगी सरकार के इस निर्णय से पंचायत चुनाव की ड्यूटी के दौरान कोरोना के चलते जान गंवाने वाले बेसिक शिक्षकों और कर्मचारियों के मृतक आश्रितों को बड़ा लाभ मिलेगा।

यूपी के बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री सतीश द्विवेदी ने बताया कि अब उन मृतक आश्रितों को जो बीएड/डीएलएड (पूर्व में बीटीसी) तथा टीईटी डिग्री धारक हैं उनको अध्यापक तथा जो टीईटी उत्तीर्ण नहीं है परंतु तृतीय श्रेणी में नियुक्ति की अर्हता रखते हैं उनको पद रिक्त न होने की स्थिति में भी अधिसंख्य पद पर तृतीय श्रेणी में नियुक्ति दी जाएगी।

मंत्री सतीश द्विवेदी ने बताया कि पूर्व में अधिकांश शिक्षकों के मृतक आश्रित जो टीईटी उत्तीर्ण नहीं थे वह उच्च शिक्षित होते हुए भी चतुर्थ श्रेणी में सेवा करने के लिए विवश थे। अब तृतीय श्रेणी की अर्हता रखने वाले मृतक आश्रितों को पद रिक्त न होने की स्थिति में भी अधिसंख्य पद पर नियुक्ति दी जाएगी।

Gyan Dairy

बता दें कि सरकार ने इस फैसले से उन शिक्षक व कर्मचारी संघों की नाराजगी कम करने का प्रयास किया है जो कि पंचायत चुनाव में मृत शिक्षकों व कर्मचारियों के परिजनों के प्रति सरकार पर संवेदनहीन होने का आरोप लगा रहे थे। बता दें कि उनकी नाराजगी को देखते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि सरकार मृतकों के परिजनों के साथ पूरी संवेदनशीलता से पेश आएगी। दरअसल शिक्षक व कर्मचारी संघ पंचायत चुनाव में 1600 से भी ज्यादा शिक्षक व कर्मचारियों की मौत का दावा कर रहा है।

Share