हाथरस केस: पीड़ित परिवार की सुरक्षा के लिए भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर ने मांगी Y सिक्योरिटी

हाथरस। हाथरस केस को लेकर राजनीतिक पार्टियों ने सियासत शुरू कर दी है। सभी पार्टियां इस केस के जरिए अपनी राजनीतिक चमकाने में जुटी हुई हैं। कांग्रेस नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी के बाद सपा और अन्य दलों के नेता भी पीड़िता के परिवार से मुलाकात करने पहुंच रहे हैं। इसी क्रम में आज भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर आजााद पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे और सरकार से उन्हें सुरक्षा देने की मांग की।

आजाद ने परिवार से मुलाकात के बाद कहा कि पीड़िता के घरवाले यहां पर सुरक्षित नहीं हैं, इसलिए उन्हें तत्काल Y सिक्योरिटी मुहैया कराई जाए। चंद्रशेखर आजाद ने पूरे मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के जज से कराने की मांग भी की। वहीं, इससे पहले आज पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे राष्ट्रीय लोकदल (RLD) के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) और समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी थी।

जिला प्रशासन ने पीड़िता के घर जाकर प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं होने के आदेश का हवाला देते हुए दोनों दलों के नेताओं और उनके समर्थकों पर लाठीचार्ज किया। प्रशासन ने इस कार्रवाई के पीछे यह दलील भी दी कि COVID-19 महामारी की वजह से जिले में धारा 144 लागू है। इसके अलावा कानून व्यवस्था के मौजूदा हालात को देखते हुए भी यह निर्णय लिया गया है कि राजनेताओं को सीमित संख्या के साथ ही पीड़ित परिवार से मिलने की अनुमति दी जाएगी।

Gyan Dairy

 

Share