हाथरस गैंगरेप: पीड़ित परिवार बोला- पुलिस-प्रशासन ने बनाया बंधक, मीडिया से मिलने पर पाबंदी

नई दिल्ली। हाथरस गैंगरेप मामले में पुलिस-प्रशासन की गुंडागर्दी थमने का नाम नहीं ले रही है। अब पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया है कि पुलिस-प्रशासन उन्हें किसी से मिलने नहीं दे रहा है। इतना ही नहीं परिवार को मीडिया से भी मिलने नहीं दिया जा रहा है। जिलाधिकारी ने पीड़िता के गांव में पहले से ही धारा 144 लगा दी है। आज यानी शुक्रवार सुबह पीड़ित परिवार ने एक नाबालिग बच्चे को किसी भी तरह मीडिया से संपर्क करने के लिए भेजा। बच्चे ने बताया कि हमारे कुछ मोबाइल फोन ले लिए गए हैं और हमें मोबाइल को स्विच ऑफ करने के लिए कहा गया है।

गांव में धारा 144 लगे होने के कारण पीड़ित परिवार के लोग आज खेतों को पार कर मीडिया से बात करने के लिए अपने गांव से बाहर पहुंचे थे। नाबालिग बच्चे ने बताया कि हमारा फोन ले लिया गया है। मेरे परिवार के लोगों ने बात करने के लिए मीडिया वालों को बुलाने के लिए यहां भेजा है। मैं प्रशासन को चकमा देते हुए यहां खेतों के रास्ते से आया हूं। वे लोग न तो हमें बाहर आने दे रहे हैं और न ही मीडिया वालों को अंदर आने दे रहे हैं। नाबालिग ने कहा कि हम लोगों को धमकाया जा रहा है। ये बातें जब बच्चा कह रहा था तभी एक पुलिस वाला आ गया और उसे देखकर वह फरार हो गया।

Gyan Dairy

जब मीडिया वालों ने उस पुलिस अधिकारी से पूछा कि आखिर हमें परिवार के सदस्यों से बात करने से क्यों रोका जा रहा है तो उन्होंने चुप्पी साध ली। इसके बाद मीडिया कर्मियों और पुलिस के बीच तीखी नोंकझोंक भी हुई। इस मामले में यूपी कांग्रेस ने ट्वीट कर लिखा कि ‘योगी जी का मॉडल देखिए। मीडिया गांव के अंदर नहीं जा सकती। परिजन फोन का इस्तेमाल नहीं कर सकते। परिवार वाले किसी से नहीं मिल सकते। तब तक योगी जी के अधिकारी बना देंगे कि रेप हुआ ही नहीं।’

Share