कोरोना और पंचायत चुनाव के चलते यूपी वालों की घर वापसी शुरू, इन राज्यों से लौट रहे सबसे ज्यादा लोग

लखनऊ। देश में इन दिनों कोरोना वायरस का संक्रमण फिर से तेज हो गया है। महाराष्ट्र और पंजाब के कई जिलों में रात्रि कफ्र्यू लगने लगा। ऐसे में लाकडाउन की आंशका और यूपी में पंचायत चुनाव की सरगर्मी के चलते महाराष्ट्र, दिल्ली और पंजाब से यूपी के लोगों का पलायन तेज हो गया है। इन राज्यों से आने वाली ट्रेनों में यात्रियों की संख्या अचानक बढ़ गई है।

लखनऊ एयरपोर्ट पर पिछले तीन दिनों में मुम्बई से आने वाली उड़ानों के यात्रियों की संख्या बढ़ी है। 31 मार्च को पांच उड़ानों से 700 यात्री आए। एक अप्रैल को यह संख्या 783 तक पहुंच गई। दो अप्रैल को यात्रियों का दबाव इतना बढ़ गया कि एक अतिरिक्त उड़ान आई। इस तरह छह उड़ानों से 956 यात्री लखनऊ पहुंचे। गो एयर की जी8-306 या इंडिगो की 6ई 267, एयर इंडिया की एआई 626 यात्रियों से भरी हुई आ रही हैं। दूसरी तरफ जाने वाले यात्रियों की संख्या में गिरावट आई है। दो अप्रैल को 537 यात्री सात उड़ानों से आए। इसके पहले एक अप्रैल को आठ उड़ानों से मात्र 574 यात्री ही मुम्बई से लखनऊ पहुंचे।

Gyan Dairy

मुंबई से लेकर दिल्ली और पंजाब में कोरोना के मामले दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं। यूपी से इन शहरों के बीच ट्रेनों से जाने वाले यात्रियों की संख्या कम है। इन ट्रेनों में एक सप्ताह तक वेटिंग है। पर, इन शहरों से यूपी आने वाले ट्रेनों में अप्रैल से लेकर मई तक लोगों की भीड़ ज्यादा है। लिहाजा मुंबई से यूपी आने वाली अधिकांश ट्रेनों में सीटें फुल हो गईं। वर्तमान में मुंबई से यूपी के बीच 28 ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। इन ट्रेनों में अगले दो महीने तक स्लीपर क्लास की सभी ट्रेनों सीटें वेटिंग में है। इसके अलावा दिल्ली से लखनऊ आने वाली ट्रेनों में तीन से चार दिनों तक वेटिंग है। पंजाब से लखनऊ आने वाली ट्रेनों में मई तक वेटिंग के टिकट मिल रहे हैं।

Share